Blog Archives

Tit For Tat….


sssइंसान  जैसे  कर्म  करता  है  फल  भी  उसे  वैसा ही मिलता है!
गल्त कार्य कर कैसे उम्मीद करते हैं आपको अच्छा नसीब होगा?
ईश्वर की लाठी में बेशक़ आवाज़ नहीं होती पर न्याय सदैव रहता है!
जैसा बोवोगे वैसा ही पाओगे!
अर्ज़ है:-sss

 

जो दिया वही तो पाओगे,
इतिहास को फिर से दोहराओगे.!

बोया बीज़  बबूल का जो,
अमृत   रस   फिर  कैसे   पाओगे.!!

jo boya.jpg

Jo Diya Wahi To Paaoge,

Itihaas Ko Phir Se Doharaaoge.!

Boya  Beez Babool Ka Jo,

Amrit   Ras   Phir  Kaise  Paaoge.!!

 

More Respect…Harmful Respect…


कई बार देखा गया है कि अगर आप किसी को ज़रूरत से ज़्यादा मान-सम्मान देंगे तो वो बतमीज़ी पर उतर आता है? क्यूँकि सभी लोग जल्दी से अपने प्रति किए गये सम्मान को पचा नहीं पाते या यूँ कहें कि सम्मान का हक़दार वही जो इस क़ाबिल हो ?

भाई हमनें तो आजमा लिया यक़ीन ना हो तो आप भी आजमा लें ?

 

zarurat se jyada.jpg

“Zrurat Se Jyadaa Maan-Samman Dena Kabhi-Kabhi Samne Wale Ko Tahzeeb Bhula Deta Hai”  @Sagar

Second Chance…?


कत्‍ल  करते  हो  फिर  पूछते गुनहा क्या है जनाब.!
दिल के टुकड़े देखते जो आप खातिर तडप रहे हैं.!!

 

Every One Deserve Second Chance??

Some Time

Of Course…

But Some Times

No.Never…

Coz…

 

Credibility is Like Virginity

U Lost Once In Your Life.

 

       मुश्किल से होता है एतबार किसी पर.!
       आप हैं क़ी दिल  तोड़ने  पर आम्दा हैं.!!

never

       Mushkil Se Hota  Hai Etabaar Kisi Par.!

       Aap Hain Ki Todane Par Aamda Hain.!!

 

Who Knows…


“मौत तो एक दिन सभी को आनी है,
क्यूँ ना ज़िंदगी की चाहा करें,
आन-बान-शान से जियें और जीने दें,
जाने इन्सानी रूप फिर मिले या ना मिले’ @सागर

1.jpg

“Maut To Ek Din Sabhi Ko Aani Hai,

Kyun Na Zindagi Ki Chaha Karein,

Aan-Baan-Shaan Se Jiyein Aur Jine Dein,

Jaane Insaani Roop Phir Mile Ya Na Mile’ @Sagar

 

Life…


“ज़िंदगी वो जो किसी के काम आ सके,
अपने लिए तो सभी मुकम्मिल ज़हान की उम्मीद करते हैं.!!” @सागर

life

“Zindagi Wo Jo Kisi Ke Kaam Aa Sake,

Apne Liye To Sabhi Mukammil Zahaan Ki Ummeed Karte Hain.!!” 

Please…


‘लाख़ों रुपया कमाने से बेहतर है

आप किसी के चहरे पर मुस्कान

ला सकें” @Sagar 

 

ksi din.jpg

Friends…Chill.!!


हम इंसानों की एक बहुत बड़ी कमी होती है!

“हम बड़ी जल्दी किसी से उम्मीद बाँध लेते हैं और जब वो पूरी नहीं होती बात दिल पर ले लेते हैं!’

क्या किसी एक सहारे ज़िंदगी गुज़रती है?
इक उम्मीद के पूरी ना होने से क्या सब कुछ ख़त्म हो जाता है?
क्या हर किसी को मुकम्मिल ज़हान नसीब होता है?

फिर दिल टूटने वाली मायूसी क्यूँ?

 

ज़िन्दगी बड़ी हसीन है,
दिल खोल लुत्फ़ कर उठाइए.!
ना  जाने  कब  क्या हो,
वक़्त से  पहले  सम्भल जाइए.!!                      @ सागर

 

life.jpg

I Think…


morning

“जब भी आप सुबहा-सवेरे अपने किसी किसी छोटे-बड़े परिचित से मिलें उन्हें Good Morningसलामप्रणाम जो भी आपको सही लगे ज़रूर कहें आपका सम्मान बड़ेगा ही!आप मुक़द्दर वाले हैं जो आपने जीवन की एक नयी सुबहा अपने परिचितों के साथ देखी!” @Sagar

From My Side:-

    “GOOD MORNING To ALL Of U.”

Badalde Rishte.!!


Maanwan Raundiyan Nein Kar-Kar Udiqaan Mundyaan Diyan.!

Wadhe Ho Ehi Munda Tadpanda Galan Sun-Sun Botiyan Diyan.!! 

maanwan.jpg

Talaash…..


 

talaash.jpg

कई साल पहले एक माँ ने अपने ब्राहामिन ,प्रोफेशनल काफ़ी पड़े-लिखे कुंवारे बेटे से कहा था”बेटा शादी करले लड़की चाहे……

गुज़राती हो या मद्रासी,
हिन्दी हो या सिंधी,
पंजाबी हो या बंगाली,
अँग्रेज़ान हो या नाइजीरियन,
ब्रेज़ीलियन हो या बल्गेरियन
नेपाली हो या बिहारी,
या और कोई हो??

पर ऐसी हो जो दिल की ज़ुबान समझ सके

तलाश ज़ारी है…..

 

फर्श से अर्श.!!


नहीं पता कि आपकी क्या सौच है परन्तू यहाँ तो ऐसे लोगों से सखत चिढ़ है जिन्हें बात करने की तहज़ीब नहीं होती! अपने से छोटों से भी जो तू-तड़ाका कर बात करते हैं
कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो ‘सर-सर‘ कर बात करते हैं उसके बाद अपनी औकात पर आ जाते हैं?उनसे सखत नफ़रत है!

माना आपकी ज़ुबान है चाहे जैसा भी ईस्तमाल कीजिए परन्तू ये ना भूलें इंसान को ‘फर्श से अर्श‘ यही ज़ुबान और आपकी मेहनत पहुँचाती है?
अर्ज़ है:-g

आपको  इज़्ज़त  कितनी  किसी की एक जुमला ही काफ़ी      है समझने के लिए.!
मुहब्बत के फ्ल्सफान लिख-लिख क्या होगा गर ज़रा भी वफ़ा दिल में ना हो.!!

bjo

Aap  Ko  Izzat  Kinati  Kisi  Ki  Ek  Zumala  Hi  Kaafi Hai  Samjhane Ke Liye.!

Muhabbat Ke Flsfan Likh-Likh Kya Hoga Gar Zra Bhi Wafa Dil Mein Na Ho.!!

Good Bye…


किस बात पर है इतना गुस्सा,
किस से है शिक़वा और शिक़ायत.!
दुनियाँ का क्या मलाल करना,
लोगों को है हर बात से शिक़ायत.!!

काश.!!


2222

‘Sagar’Ke Dil Se.!!


  किसी से रिश्ता निभाते-निभाते इतना गुड ना डालिए.!
  के एक कड़वा नीवाला भी जयका ज़िंदगी का बदल दे.!!

aaaa.png

Kisi Se Rishta Nibhate – Nibhate Itna Gud Na Daliye.!

Ke Ek Kadawa Niwala Bhi Jayka Zindgi Ka Badal De.!!

मुक़द्दर.!!


   आदमी चाहे भी तो खुदका मुक़द्दर बदल सकता नहीं.!
   मतलब ये नहीं सब  मुक़द्दर पर छोड़े मेहनत ना करे.!!

muqdar.jpg

Aadmi Chahe Bhi To Khudka Muqddar Badal Sakta Nahin.!

Matlab Ye Nahin Sab Muqddar Par Chode Mehnat Na Kare.!!

एक दिन का वादा निभाना.!!


wada.jpg

 

काहे का अभिमान.!!


     तेरा है और ना मेरा है,
     जिस्म भी नहीं होत अपना.!

     फिर काहे अभिमान बंदे,
     क्या तेरा क्या मेरा अपना.!!

 

68007_407060419366034_878863226_n.jpg

 

   Tera Hai Aur Na Mera Hai,

   Jism Bhi Nahin Hot Apna.!

   Phir Kahe Abhiman Bande,

   Kya Tera Kya Mera Apna.!!

 

जीवन का आनन्द.!!


“जो आया है उसे एक दिन जाना भी होगा ये जानकार भी हर पल जीवन का लुत्फ़ उठाना चाहिए” @सागर

jo.jpg

“Jo Aaya Hai Use Ek Din Jaana Bhi Hoga Ye Jankar Bhi Har Pal Jiwan Ka Lutf Uthana Chahiye”  @Sagar

नज़रिया.!!


कभी-कभी आप की एक छोटी-सी ग़लती से ऐसा कुछ खो देते हैं जिस से आगे चल आप को ज़िंदगी में बहुत  मिल  सकता था, इसीलिए हमें चाहिए जीवन में हर कदम सौच-समझ कर आगे बढ़ें!

:- @सागर

39.jpg

 

सत्य वचन.!!


         अक्सर दोस्ती की दुहाई वही देते हैं जो दोस्ती की ए.बी.सी.डी. भी  नहीं जानते और ससमझाना उनको चाहिए जो आपकी बात को महत्व देते हैं:- @सागर

anmole.png

सबसे बड़ी भूल.!!


‘औरत को कमजोर समझना सब से बड़ी भूल है’                     @सागर

Bhool.jpg

‘Aurat  Ko  Kamjor  Samjhna  Sab  Se  Badi  Bhool Hai’      @Sagar                                                                                            

QUOTE Of The DAY.!!


Imaandar Wo Hai Jise Mouka Mile Aur Wo Apna Imaan Qayam Rakhe.

ईमानदार

ईमानदार वो है जिसे मौका मिले और वो अपना ईमान क़ायम रखे.

QUOTE Of The DAY


किसी भी व्यक्ति की पहचान इस बात से होती है कि वो अपने परिवार के साथ कैसा है,
अपने माता-पिता से कैसा निभाया है?
क्यूँ कि जो अपने माँ-बाप का नहीं हुआ वो किसी और का हो ही नहीं सकता और ना ही किसी विश्वास के क़ाबिल है!@सागर

121.jpg

Kisi Bhi Vyakti Ki Pehchan Is Baat Se Hoti Hai Ki Wo Apne Pariwar Ke Saath Kaisa Hai,

Apne Mata-Pita Se Kaisa Nibhaya Hai?

Kyunki Jo Apne Maan-Baap Ka Nahin Hua Wo Kisi Aur Ka Ho Hi Nahin Sakta Aur Na Hi Kisi Vishwas Ke Qabil Hai.@Sagar

QUOTE Of The DAY


 इंसानियत को निभाईए,

INSAANIYAT KO NIBHAIYE,

HAR MAJHAB SE KHUD HI PYAAR HO JAYEGA.!! @SAGAR

इंसानियत को निभाईए,
हर मज़हब से खुद ही प्यार हो जाएगा.!! @सागर

%d bloggers like this: