Category Archives: Hussan-e-Ishaq Shayari

Look So Beautiful…


क्या खूब है तेरी वो बाइक और ये कानपुरिया स्टाइल,
कभी हम को भी सैर करा जहाँ की.!

लाज़िम है तेरे साथ जो गुज़रेगा सफर सुहाना ही होगा,
कभी प्यास बुझा प्यासे”सागर“की.!!

bike.jpg

Advertisements

Beautiful..☆It’s 4 You…!!


बहुत गुमान  है ना  तुझे  अपने होंठों की लाली पर,
इक बार करीब आकर तो दिखा.!

चुरा लाली इन पे अपना नाम न लिख दूँ तो कहना,
ज़रा करीब आने की हिमत दिखा .!!

                                4

Bahut gumaan hai na tujhe apne honthon  ki laali par,

Ik baar kareeb aakar to dikha.!

Chura  laali in pe  apna  naam  na  likh doon  to kehna,

Zra kareeb aane ki himat dikha.!!

खुदा का नज़राना…


फूलों का रास निकाल तेरे बदन की खुशबू में डाला है.!
चंदा की चांदनी से तेरे तन को मॉल-मॉल नहलाया है.!!
सारी क़ायनात के हुस्न के जलवे तेरे चहरे में समाया है.!
मेरे मेहबूब तुझे बड़ी फुरसत में उस खुदा ने बनाया है.!!

na-pila

Phoolon ka ras nikaal tere badan ki khushboo mein dala hai,

Chanda ki chaandni se tere tan ko mal-mal nahalaaya hai.!

Saari qaynaat ke husn ke jalwe tere chehare mein samaya hai,

Mere mehboob tujhe badi phursat se us Khuda ne bnaaya hai.!! 

Malik ki Khata hai…


Tum aate-jaate Rozedaron se bach kar chala karo,

Be-hya na bano zra hijab mein raha karo.!

Maalik ne banaaya Mehtaab-sa uski khata hai,

Mnale na koyi Eid zra chup-chup raha karo.!!

Before Office Time (Court)…


ये आप के चहरे पर की बेक़रारियाँ,
के जैसे साँझ को है ढलता सूरज.!

ज़िन्दगी कुछ लम्हों की दास्ताँ नहीं,
हर शाम बाद फिर उगता सूरज.!!

55

Ye aap ke cheahre par ki beqarariyan,

Ke jaise sanjh ko hai dhalta Suraj.!

Zindagi kuch lamhon ki dastan nahin,

Har Shaam baad phir Ugta Suraj.!!

कुंवारे ज़ज़्बात..!!


छह फुट तीन इंच का बांका नौजवान हूँ.!
पतला हूँ मगर बड़ा खूबसूरत जवान हूँ.!!
भरती हैं पीछे-पीछे आहें कई तितलियाँ.!
सम्भाला है दिल को फिसलता कहाँ हूँ.!!

गोरा है मुखड़ा और सीना भी है चौढ़ा.!
देख हसीनाओं ने आँखों पे पल्ला ओड़ा.!!
बहकी है नज़र कई हसींन बालाओं की.!
देख बोलें हाय अल्लाह कहीं का न छोड़ा.!!

शायर हूँ दिल का थोड़ा खिलाडी भी हूँ.!
दिल के मामलों में बड़ा अनाड़ी-सा हूँ.!!
मगर करीब आने की ज़िद्द न करा करो.!
बाँहों में भर लूँगा थोड़ा-सा जुगाड़ी जो हूँ.!!

5

तुझ से बेहतर हैं कई मेरे पास.!!


वो दिन गुज़रे जब रात-रात भर जाग तेरे ख्यालों में,
अपनी शायरी की मलिका तुझे बनाया करते थे.!

आज तुझ से बेहतर हैं मेरे पास कई हुस्न वाले देख,
जो कभी करीब आने को तरस जाया करते थे.!!

2

क्यों.!!


बहुत मगरूर हैं आँखें बड़ी मशहूर हैं आँखें,
मैं इन में खो ना जाऊं क्यों.!
तुम्हारे प्यार का दीवाना है सारा जहाँ माना,
मैं किसी और को चाहूँ क्यों.!!

aankhe

Happy Sunday…


अपने रुख से पर्दा यूँ हौले-हौले सरकाओगे,
खुदा कसम देखने वालों को बेमौत मार जाओगे.!

महताब-कहकशां-चाँद-सितारे चूमेंगे कदम
ज़मीं पर उस रब्ब बाद एक तुम्हीं पूजे जाओगे.!!

2

ख्वाब.!!


एक शायर के ख्वाब से कम नहीं,
ये हसीन हुस्न-ए-ज़माल.!

देख खुदा भी परेशान है आजकल,
अपनी कला-ए-कलाम.!!

18

क्यों .!!


तेरे मखमली बालों से क्यों उलझना चाहता हूँ,
तेरे नरम  होंठों  को क्यों छूना चाहता हूँ.!

यर कैसी बेकसी है कैसा है ये खुमार “सागर“,
क्यों उनका अंग-अंग अपनाना चाहता हूँ.!!

6.jpg

सुन्दर होगी ख्वाबों की ताबीर जैसी .!!


रोज़ मिलती बातें भी करती,
पर कभी देखा नहीं .!

सोचता हूँ बड़ी सुन्दर होगी,
ख्वाबों की ताबीर जैसी .!!

sunder.jpg

Roz milti baatein bhi karti,

Par kabhi dekha nahin.!

Sochta hun badi Sundar hogi,

Khwabon ki tabeer jaisi.!!

क्या कहूं…!!


ज़न्नत कहूं कहूं तुझे मैं खुदा की कोई हूर.!

लफ्ज़ नहीं अलफ़ाज़ नहीं तू है बहुत खूब.!!

zt.jpg

लोग तुझे देख कहते माशा-अल्लाह.!!


दांतों में ऊँगली दबा,
ना कर हाय अल्लहा हाय अल्लाह.!

हया भी शरमा जाती,
लोग तुझे देख कहते माशा-अल्लाह.!!

2.jpg

ना इतरा.!!,


ना इतरा अपने हुस्न पे क़ातिल,
तुझे बहुत दिया खुदा ने माना.!

उसी मालिक ने मुझे बनाया है,
कुछ दिया होगा क्यों न जाना.!!

is in your hand.!!

साथी खूबसूरत हो दिल क्यों ना बेईमान हो जाए.!!


बच के रहना सीखेंगे,
हसीनों की कलाकारी से अब.!
कहीं ऐसा न हो जाए,
उन्हें ही हम से प्यार हो जाए.!!

खता कर सजा दें.
इश्क़ में यक़ीन कैसे रह जाए.!
साथी खूबसूरत हो,
दिल क्यों ना बेईमान हो जाए.!!

मौसम की क्या खता,
गर ज़िन्दगी बईमान हो जाए.!
दिखा सपनें रसीले,
सागर“साथी जो बेवफा जाए.!!

mehndi

छोटा-सा तिल खूब है इतराता.!!


तेरे लब पर ये जो छोटा-सा तिल है,
दिल का चैन चुराता.!
हंसती जो खिल-खिल कर लबों पर,,
बड़ा खूब है इतराता.!!

1.jpg

क़ाबिलियत.!!


न इतरा यूँ हुस्न पर,
दिया खुदा ने माना बेपनाह.!

I'm Falling in Love.....'Sagar'
करीब आ तो सही,
क़ाबिलियत हम में बेपनाह.!!

कैसी रीत”सागर”बनाने वाले की.!!


हुस्न इतना बेपर्दा क्यों है,
क्यों देता फिर इश्क़ को इलज़ाम.!
गर आँख बंद चलोगे तो,
भुगतना पड़ सकता कोई अंजाम.!!

4.jpg

हमीं पे जुल्म हमीं पे इलज़ाम,
ये कैसी अदा इन हुस्न वालों की.!
रिझाते भी हैं और तड़पाते भी,
कैसी रीत”सागर“बनाने वाले की.!!

Blame On Your Head…


अपने हुस्न की बानगी से मुझे यूँ ना तडपा,
ना जी पाऊँ और गर मरना चाहूं मर भी ना पाऊँ.!
खुदा ने दिया है गर सम्भाल कर रख इसे,
मौत आए गर इल्ज़ाम तेरे सर लगा ही ना पाऊँ.!!

6669deb4360f0f777f3b791_zpshhky3pai

Apne Husn Ki Bangi Se Mujhe Yun Na Tadpa,

Na Ji Paaoon Aur Gar Mrna Chahun Mar Bhi Na Paaoon.!

Khuda Ne Diya Hai Gar Sambhal Kar Rakh Ise,

Maut  Aaye   Gar   Ilzaam  Tere  Sar  Laga  Hi  Na  Paaoon.!!

आपकी झुलफें…


आपकी झुलफें हैं जैसे  कि सावन की घनघोर काली घटायें.!
मदहोश करती तन-बदन और ज़ज़्बातों को आग सुलगायें.!!

Aapki Jhukein Hain Ki Sawan Ki Ghaghor Kaali Ghatayein.!

Madhosh  Karti  Tan – Badan  Aur  Zazbaton  Ko  Sugayein.!!

Oh!!God,Only U Know…


ए खुदा तुझे  इस हसीन  को  बनाने  में कितना वक़्त लगा होगा.!
ये तो मालूम नहीं पर ये तय है बाद तेरा दिल भी ललचाया होगा.!!

91

Ey Khuda Tujhe Is Haseen Ko Banaane Mein Kitna Waqt Laga Hoga.!

Ye To Malum Nahin Par Ye Tay Hai Baad Tera Dil Bhi Lalchaya Hoga.!! 

Her Beauty…


उनके रुख़ से नक़ाब धीरे-धीरे जो सरकने लगा,
मानों महताब बादलों से बाहर निकलने लगा.!

लोग दाँतों तले दबा उंगलियाँ करहा उठे ‘सागर‘,
कलेजा सीने  से फड़फड़ा बाहर निकलने लगा.!!

rukh pe.jpg

Unke Rukh Se Naqab Dheere-Dheere Jo Sarkane Laga,

Manon Mehtab Badalon Se Bahar Niklne Laga.!

Log Danton Tale Daba Ungaliyaan Karha Uthe ‘Sagar‘,

Kaleja Seene Se Fadafada Bahar Niklne Laga.!!

खुशकिस्मत झुलफें…


तेरे माथे जो बालों की लट है,
कम्बख़त खुशकिस्मत हर वक़्त तेरे गालों को चूमती रहती.!

तड़पाती  है तरसाती है बहुत,
बेहया बड़ी बेशर्म है सारे आम तेरे गालों को चूमती रहती है.!!

oltre-mai.png

Tere Mathe Jo Balon Ki Lat Hai,

Kambakhat Khushkismat  Har  Waqt  Tere Galon Ko Chumati Rahti.!

Tadpat Hai Tarsaati  Hai  Bahut,

Behya Badi Besham Hai Sare Aam Tere Galon Ko Chumati Rahti Hai.!!

 

Your Intoxicating Eyes …


इन मदभरी छलकती आँखों से इतना भी ना पिला,
होश  खो  बैठें  और  रुवसा हो जायें.!

ज़माने  ने दिया  है  कब दिलवालों को अच्छा सिला,
कहीं आशिकी में मशहूर ना हो जायें.!!

na pila.jpg

In Madbhari Chalakti Aankhon Se Itna Bhi Na Pila,

Hosh Kho  Baithein  Aur Ruwsaa Ho Jayein.!

Zamane Ne Diya Hai Kab Dilwaalon Ko Achcha Sila,

Kahin Aashiki Mein Mashahur Na Ho Jayein.!! 

Your Slim Waist


तेरी पतली कमर का ये जादू,
सर  चढ़   कर   है  बोलता.!

वरना  हुस्न  वाले  तो  कई  हैं,
होता नहीं असर किसी का.!!

15zm4ht.gif

Teri Patlee Kamar Ka Ye Jaadu,

Sar Chad Kar Hai Bolta.!

Warna Husn Wale To Kai Hain,

Hota Nahin Asar Kisi Ka.!!

All Copyrights Are Reserved
@Advo.R.R.’Sagar

You are Unique…


हुस्न  के  कारवाँ  में  तू बेजोड़ है,
और तुझसा नहीं कोई.!

खुदा भी कशमकश में तुझे भेज,
वहाँ तुझसा नहीं कोई.!!

91.jpeg

Husn Ke Karwan Mein Tu Bejod Hai,

Aur   Tujhsa   Nahin  Koyi.!

Khuda  Kashamksh Mein Tujhe Bhej,

Wahan Tujhsa Nahin Koyi.!!

 

One Day Your Beauty Kill Me…


तेरा यूँ सजना-संवरना मुझे एक दिन मार डालेगा.!
मशहूर  हो  जाएगी इतना गैर अमानत हो जाएगी.!!

71.jpg

Tera Yun Sajna-Sanwarna Mujhe Ek Din Maar Dalega.!

Mashahoor Ho Jaayegi  Itna  Gair Amaanat Ho Jayegi.!! All Copy Rights Are Reserved@Advo.R.R.’Sagar’

Nine Days Wonder


     सुंदरता चार दिन की चाँदनी’सागर’.!
     खूबसूरत  दिल सदियों  की दास्तान.!!

sundarta.jpg

     Sundarta Char Din Ki Chandni’Sagar’.!
     Khoobsurat  Dil  Sadiyon  Ki  Dastaan.!!

हुस्न की अदा.!!


हुस्न की बेबाकी तो देखिए सरे  राहा इश्क़ को बनाने निकला.!
अपनी शौख हसीन  अदाओं  से सारी दुनियाँ रिझाने निकला.!!

sare raha

Husn Ki Bebaki To Dekhiye Sre Raha Ishq Ko Banane Nikala.!

Apni Shoukh  Haseen Adaon Se Sari Duniyan Rijhaane Nikala.!!

%d bloggers like this: