Category Archives: Funny Poetry

Love Bye Chance.!!


 

अव्वल तो होता नहीं,
होता लव बाइ चान्स.! 
कितना हाँ-ना कर लो
होता इज़हार बाइ विश.!!

मानो ना मानो यारो,
सच कहता बाइ गॉड..!
अपनी कुछ उनकी सुनते,
लव बढ़ता बाइ टॉक.!!

महबूब घर जाना हो,
तो गली पकडो बाइ पास.!
कार-स्कूटर की छोड़ो,
डोली ले आओ बाइ हॉर्स.!!

वही वफ़ा पाक “सागर“,
जो पटाए ना बाइ गेम.!
लुट जाए पिट जाए पर,
रुसवा ना करे बाइ नेम.!!

वही वफ़ा पाक.jpg

Avval To Hota Nahin,

Hota Love Bye Chance.! 

Kitna Haan-Na Karlo,

Hota Izhaar By Wish.!!

Mano Na Mano Yaaro,

Sach Kehta Bye God..!

Apni Kuch Unki Sunte,

Love Badhta Bye Talk.!!

Mehboob Ghar Jana Ho,

To Gali Pakado Bye Pas.!

Car-Scooter Ki Chodo,

Doli Le Aao Bye Horse.!!

Wahi Wafa Pak”Sagar“,

Jo Pataye Na Bye Game.!

Lut Jaaye Pit Jaaye Par,

Ruswa Na Kare Bye Name.!!

Dec 9, 2015 6:25 PM

MORAL…


“Never Say That I Failed 10 Times 

Say That I Discovered Ten Ways That Can Cause Failure”

moral.jpg

 

MORAL: “बंदा बेगैरत बन जाए पर अपनी गलती कभी ना माने”

Beautiful Princess…


बात न करने की लगता आज उसने कसम खाई है.!
तभी तो गौरी छुप-छुप कर ऑनलाइन हो आई है.!!
अज़ी  गर्म  मौसम  में  इतनी गर्मी ठीक नहीं.!
तेरी गली गन्ना-चरखी लगाने की ख्वाहिश है.!!
कल तक तो खूब बतिया रही थी दीवाना कर गई.!
लगता  मम्मी  ने नेट  करने  पर पाबन्दी लगाई है.!!
खुद  ही  सोच  कब  तक  तेरी  खातिर  लिखता  रहूँ.!
बेवजह ही अपने दिल-औ-दिमाग की जोर-ाज्मिश है.!!
जब चाहा दिल से खेला और जब चाहा खूब बतिया.!
दिल तोडना-जोड़ना मनो हुस्न वालों की पैदाइश है.!!

u

Baat Na Karne Ki Lagta Aaj Usne Kasam Khai Hai.!

Tabhi To Gauri Chup-Chup Kar Online Ho Aai Hai.!!

Azi Garm Mausam Mein Itani Garmi Theek Nahin.!

Teri Gali Ganna-Charkhi Lagane Ki Khwahish Hai.!!

Kal Tak To Khub Batiya Rahi Thi Deewana Kar Gai.!

Lgta Mummy Ne Net Karne Par Pabandi Lagai Hai.!!

Khud Hi Sauch Kab Tak Teri Khatir Likhta Rahoon.!

Bewajah Hi Apne Dil-o-Dimaag Ki Jor-Aajmish Hai.!!

Jab Chaha Dil Se Khela Aur Jab Chaha Khub Batiya.!

Dil Todna-Jodna Mano Husn Walon Ki Paidaish Hai.!!

Love story …


उन्हें मनाने की चाहा में,
इन्हें जलन का कीड़ा दे गया.!
इंदौर वाली क्या मानती,
फिरोजाबादी नाराज कर गया.!!
सच कहा किसी ने यारो,
जलन की पीड़ा ने ढाये सितम.!
एक पट्टी नहीं थी और,
दूजी का कोप-भजन गा गया.!!
अभी तो अच्छा था उस,
ब्राज़ीलियाई को हिंदी न आती.!
वरना ‘सागर‘ तय था,
जूतों का हार और शृंगार गया.!!
लाहौर वाली का क्या,
वीजा प्रॉब्लम बता बच सकता.!
वैसे कुड़ी पंजाबन है,
टप्पे से फ़ोन पर इजहार गया.!!

hasna mna.jpg

Tell Me…


गर्मी लगे तो A C से काम चला बचा जा सकता.!
तेरे इश्क़ की  गर्मी  से बचने का रास्ता तो बता.!!

Garmi Lage To AC Se Kaam Chala Bacha Ja Sakta.!

Tere Ishq  Ki Garmi Se Bachne Ka Rasta To Bata.!!

Incomplete Union …


इक  शर्मा  को  एक शरमानी पसंद आ गयी.!
अज़ी फिर क्या था मुहब्बत पर आन आ गयी.!!

शरमानी भी कमतर नहीं खूब छकाती,
शर्मा की सोशियल साइट पे मैसेज छोड़ जाती.!

तड़पे तरसें भाड़ में जायें उनकी बला से,
नैनों का जादू चला वो अपना काम कर गयी.!!

शर्मा जी कम ना थे जा पहुँचे इलाहबाद,
शहर की गलियों में चक्कर लगाने लगे.!

हर किसी से पूछते उसका पता और खोज-खबर,
कुड़ी जो आम थी शहर में मशहूर हो गयी.!!

दो जोड़ी जुतो की शर्मा जी लेकर आए,
एक जोड़ी टूटी शरमानी की खोज में.!

ग़लती से जा पहुँचे वर्मानी के घर को,
उनका कुत्ता पीछे लगा दूजी जोड़ी भी गयी.!!

शरमानी भी कम नहीं रोज़ प्रोफाइल पिक बदले,
जले पर नमक डाले सज-धज पोज़ बनाए.!

अब तक सुना’सागर‘इश्क़ निकम्मा करता,
शर्मा-शरमानी की मुहब्बत से हक़ीक़त हो गयी.!!

4

Ik Sharma Ko Ek Sharmani Pasand Aa Gayi.!

Azi Phir Kya Tha Muhabbat Par Aan Aa Gayi.!!

Sharmani Bhi Kamtar Nahin Khub Chakati,

Sharma Ki Social Site Pe Massage Chod Jaati.!

Tadpein Tarsein Bhad Mein Jayein Unki Bala Se,

Nainon Ka Jadu Chala Wo Apna Kaam Kar Gayi.!!

Sharma Ji Kam Na The Ja Pahunche Allahabad,

Shahar Ki Galiyon Mein Chakkar Lagane Lage.!

Har Kisi Se Poochate Uska Pata Aur Khoj-Khabar,

Kudi Jo Aam Thi Shahar Mein Mashhoor Ho Gayi.!!

If U Wish,Apply For….Few Days Remain.!!


ज़िंदगी में गर हँसी-खुशी की बातें,रोमान्स,अड्वेंचर ना हो तो ज़िंदगी नीरस-सी लगने लगती है!
किसी ने खूब कहा है:
ज़िंदगी ज़िंदा दिली का नाम है,
मुर्दा दिल क्या खाक जिया करते हैं
अर्ज़ किया है:-

3barra

पचास से ऊपर कमाता हूँ,
रोज़ लड़ने जाता हूँ.!
कोई डॉन नहीं वक़ील हूँ,
मेहनत से कमाता हूँ.!!

ज़रूरत है इक श्रीमती की,
म्रदुभाषी नयन कटोरी भी.!
पंजाबी जाने ब्राहमिन हो,
मॉडर्न हो पर हिन्दुस्तानी भी.!!

जीन्स पहने कोई फ़र्क नहीं,
सर पर ओडनी ज़रूर हो.!
लंबी-पतली छेल-छबिली,
पर थोड़े स ज़्यादा मगरूर हो.!!

पंजाबी ब्राहमिन की चाह ज़रूर,
पर जाति-धर्म की बदिश नहीं.!
बंगाली-मद्रासी फ़िरोज़ाबादी-नेपाली,
पर लड़की बड़े दिलवाली हो.!!

बाइस से ऊपर हो चाहे,
पर तीस से कम हो.!
हुंतर वाली ना हो कोई,
स्कूल की टीचर हो.!!

अपना बनाने में क्या जाता,
आज़माने में क्या जाता.!
माथे पर थोड़े लिखा,
बिका माल वापिस नहीं होगा.!!

खवाबों से प्यारी हो,
दुनियाँ से भी नायरी हो.!
लाखों में एक रहे जो,
सागर‘की दुल्हनिया हो.!!

Pachaas Se Oopar Kamata Hun,

Roz Ladne Jaata Hun.!

Koyi Don Nahin Waqeel Hun,

Mehnat Se Kamata Hun.!!

Jarurat Hai Ik Shrimati Ki,

Mrdubhashi Nayan Katori Bhi.!

Punjabi Jaane Brahmin Ho,

Modern Ho Par Hindustani Bhi.!!

Jeans Pahane Koyi Fark Nahin,

Sar Par Odani Jarur Ho.!

Lambi-Patali Chel-Chabili,

Par Thode S Jyada Magrur Ho.!!

Punjabi Brahmin Ki Chah Jarur,

Par Jaati-Dharm Ki Badish Nahin.!

Bangali-Madrasi Firozabadi-Nepali,

Par Ladki Bade Dilwaali Ho.!!

Baais Se Oopar Ho Chahe,

Par Tees Se Kam Ho.!

Huntar Wali Na Ho Koyi,

School Ki Teacher Ho.!!

Apna Banane Mein Kya Jaata,

Aajmane Mein Kya Jaata.!

Mathe Par Thode Likha,

Bika Maal Wapis Nahin Hoga.!!

Khawabon Se Pyaari Ho,

Duniyan Se Bhi Nayari Ho.!

Lakhon Mein Ek Rahe Jo,

Sagar‘Ki Dulhaniya Ho.!!

My Promise…


जब बार-बार समझाने के बाद भी माशुका ना यक़ीन करे और ना ही इक़रार करे तो इसके सिवा
कोई और रास्ता ही नहीं बचता !
अर्ज़ है:-

tumblr_ocbln5vesh1uwg043o1_500

इक तुझको ही चाहा है तेरी माँ की कसम,
ख़ाता  तेरी  कसम  तो  मानती  ना उन के सर की कसम.!
नकद से मूल प्यारा होता तुमनें सुना होगा,
कर इक़रार वरना दूँगा होने वाली अपनी सास की कसम.!!

promise.jpg

करवा – चौथ…


करवा-चौथ एक बहुत ही यादगार,प्रेम दर्शाने
वाला त्यौहार है?सौचा क्यूँ ना कुछ नकिन हो जाए??
अर्ज़ है:-

images (7).jpg

karwa.jpg

करवा – चौथ  के  दिन वो सब कड़वा कर बैठी.!
खूब  दिखने  की  चाहा  में  खुद को  बेढंगा  कर बैठी.!!

सजने-सँवरने की चाहा भला किसे नहीं इस दिन.!
अपने घर की ना सौच साजन का बटुवा नंगा कर बैठी.!!

uuu.jpg

Karwa-Chauth Ke Din Wo Sab Kadwa Kar Baithi.!

Khub Dikhne Ki Chaha Mein Khudko Bedhanga Kar Baithi.!!

Sajne-Sanwarne Ki Chaha Bhala Kise Nahin Is Din.!

Apne Ghar Ki Na Sauch Sajan Ka Batuwa Nanga Kar Baithi.!!

Brother’s Sister-in-law. !!


एक ऐसा एहसास है जिसे हर कोई महसूस करना चाहता है,
भाभी का देवर हो या भाभी की बहना हो
हर किसी की यही दुआ होती!
कुछ रिश्ते ही ऐसे होते हैं जिनके बिना ज़िंदगी बेरंग लगती?
भाभी की बहना और जीजा के भाई…
दोनो की केमॅस्टेरी बहुत दिल फरेब और हसीन होती है!
जिसका आनद वही जानता जिसने महसूस किया हो…
अर्ज़ है:-

ssemras21

जब  से  देखा  है  भाभी  की बहना को,
दिल बेक़रार हो गया.!

आदमी था यारो बड़े काम का ‘सागर‘,
अब बेक़ार हो गया.!!

जब  आती  घर  में  रहने  तंग  करती,
चलती ठुमक-ठुमक.!

करती  नखरे  सौ – सौ  पर  क्या करें,
दिल बेताब हो गया.!!

जब देखो शिक़ायत करती है भाभी से,
मास्टरनी हो जैसे कोई.!

क्या करूँ दिल दा मामला  प्यार उस से,
जो बेशुमार हो गया.!!

रब्ब   से   यही  दुआ  वही  बने  घरवाली,
नहीं ऐसी कोई दिलवली.!

उस  की  सुध  में  ऐसा  खोया  सारे शहर,
बंदा बदनाम हो गया.!!

खाने  की  बड़ी  चटोरी  माँगें  रखे  बहुत,
हर बात मनवाए अपनी.!

भाभी कहाँ पीछे रहती घर का सारा काम,
अपने नाम हो गया.!!

सच  कहता  हूँ  यारो  आँख  लड़ाना  पर,
भाभी बहाना ना संग.!

फिर ना कहना ना समझाया था’सागर‘ने,
मैं परेशन हो गया.!!

Bhabhi's sister.jpg

Jab Se Dekha Hai Bhabhi Ki Behana Ko,

Dil Beqarar Ho Gaya.!

Aadmi Tha Yaaro Bade Kaam Ka‘Sagar‘,

Ab Beqaar Ho Gaya.!!

Jab Aati Ghar Mein Rahane Tang Karti,

Chalti Thumak-Thumak.!

Karti Nakhare Sau-Sau Par Kya Karein,

Dil Betaab Ho Gaya.!!

Jab  Dekho  Siqaayat  Karti  Bhabhi  Se,

Mastarni Ho Jaise Koyi.!

Kya Karun Dil Da Mamla Hai Pyaar Usse,

Jo Beshumar Ho Gaya.!!

Rabb Se Yahi Dua Wahi Bane Gharwaali,

Nahin Aisi Koyi Dilwali.!

Us Ki Sudh Mein Aisa Khoya Sare Shahar,

Banda Badnaam Ho Gaya.!!

Khane Ki Chatori Mangein Rakhe Bahut,

Har Baat Manwaye Apni.!

Bhabhi Kahan Piche Rahti Ghar Ka Sara Kaam,

Apne Naam Ho Gaya.!!

Sach Kehta Hun Yaaro Aankh Ladana Par,

Bhabhi Behana Na Sang.!

Phir Na Kehna Na Samjhaya Tha’Sagar‘Ne,

Main Pareshan Ho Gaya.!!

Jija’s Dearest Sister-in-Law…


बस कुछ दिन की बात है शादियों का मौसम शुरू होने वाला है
कई घर बसेंगे,कई डोलियां सजेंगी!
प्यार-मुहब्बत कस्में-वादों की भरमार होगी,होंगी हँसी-खुशी की
बातें और चुहल-बाज़ी!
ऐसे में जीजा श्री की साली साहिबा को कैसे नज़र अंदाज़ किया
जा सकता है?

जहाँ साली ना हो वहाँ शादी का भला क्या मज़ा?
अर्ज़ है:-

3barra.gif

pic.jpg

जिस जीजा की ना हो साली,
उसकी समझो फिर खाली थाली.!

यूँही बड़े-बुजुर्ग नहीं कह गये.!
साली होती है आधी घरवाली.!!

दुल्हन लेनी सहो नखरे साली के,
चाय की चुस्की जैसे प्याली से.!

अच्छे-अच्छों को सबक सीखा दे,
जीजा को भाए तभी उसकी साली.!!

चला है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ ,
कब चलेगा बेटी बढ़ाओ और बढ़ाओ.!

हर जीजा की होगी मन्नत पूरी,
बाय वन गेट वन फ्री में होगी साली.!!

बुरे वक़्त में काम आती साली,
जैसे अपने घर की बहना प्यारी.!

रिश्ते बिखरने से हर पल बचाती,
बेटी-सी लागे तभी तो साली.!!

माँ ने कहा लड़की देख ले’सागर‘,
जो  थी  सुंदर  पर  बिन  बहना थी.!

आव देखा ना ताव कहदी ना,
सौचा ज़िंदगी कटेगी ना मतवाली.!!

 

Saali.gif

Jis  Jija  Ki  Naa  Ho Saali,

Uski Samajho Phir Khali Thali.!

Yunhi Bade-Bujurg Nahin Kah Gaye.!

Saali Hoti Hai Aadhi Gharwaali.!!

Dulhan Leni Saho Nakhare Saali Ke,

Chay Ki Chuski Jaise Pyaali Se.!

Achche-Achchon Ko Sabak Sikha De,

Jija Ko Bhaye Tabhi Uski Saali.!!

Chala Hai Beti Bachao Beti Padaho,

Kab Chalega Beti Badhao Aur Badhao.!

Har Jija Ki Hogi Mannat Poori,

Buy One Get One Free Mein Hogi Saali.!!

Bure Waqt Mein Kaam Aati Saali,

Jaise Apne Ghar Ki Behna Pyaari.!

Rishte Bikharne Se Har Pal Bachati,

Beti-Si Lage Tabhi To Saali.!!

Maan Ne Kaha Ladki Dekh Le’Sagar‘,

Jo Thi Sundar Par Bin Behna Thi.!

Aav Dekha Na Taav Kahdi Na,

Saucha Zindagi Kategi Na Matwaali.!!

Her Digestion…


ज़रा – सी तारीफ़ किसी की क्या की,
उनका हाज़मा खराब हो गया.!
अब तक जो करते थे नखरे मिलने से,
प्यार  उन  को  हम  से  हो गया.!!

tareef.jpg

Zara – Si  Taareef  Kisi  Kee  Kya Kee,

Unka Hazma Kharab Ho Gaya.!

AbTak Jo Karte The Nakhare Milne Se,

Pyaar  Un Ko Hum Se Ho Gaya.!!

Kamla’Sagar’…


Haay Marjawan  Main Gud Khake,

Kehndi-Si O ‘Sagar‘ Nu Har Wele.!

Kamla Bora Bhar Gud-Da Le Aaya,

Gud Kha Whi Mri Na O Kisi Wele.!!
gud khake.jpg

Difference…


अक्सर लोगो के दिल-ओ-दिमाग़ में ये सवाल रहता है कि अपनी बीवी होते हुए भी मर्दों को (बेवफा) गर्ल फ्रेंड क्यूँ प्यारी लगती है!सीधा सा उत्तर है इंसान की दिमागी फ़ितरत है जो चीज़ उसके पास होती है वो सदैव उसकी कीमत नहीं जान पाता और जो कभी इतेफ़ाक़ से उसे नसीब हो जाती है उसे ही ज़्यादा भाव देता है!जोकि सर्वथा ग़ल्त सौच है!
अर्ज़ है:-

ssemras2

biwi.jpg

गर्ल फ्रेंड  लगती  है  बेह्द  हसीन  बीवी  क्यूँ नहीं.!
बीवी रहती हर पल गर्ल फ्रेंड मिलती काभ-कभी.!!

girl friend.jpg

Girl Friend Lgti Hai Behd Haseen Biwi Kyun Nahin.!

Biwi  Rehti  Har  Pal  Girl Friend Milti Kabhi-Kabhi.!! 

 

Sorry Ji Assi Kamla Nyin Wnna.!!


YaaraN Naal Shagan Mele Ne…

sss.gif

Ik Haseena Sohani Makhan Wargi Chitti,

Puchdi Sadhe Kolun Kithe De O Ji,

Ki Dasaan Unnu,,,

Kal Puchegi  NaaN Ki Ey Ji,

Ki Karde O Ji.

Phir Ghar Da Pta,

Mobile Number,

Kinna Khat Lainde O Ji,

ArmaaN Dil Ich Jaga Ke,

Raatan Di Neendra Chura Ke,

Turr Jaayegi Kisi Hor Naal,

Sahanu Kamla Wana Ke,

Sorry Ji Assi Kamla Nyin Wnna,

baaraat.jpg

Ik Bechaara.!!


  बच्चों के अब्बा से बोली अम्मी,
  जाओ बाज़ार से लादो नारंगी-मौसमी.!
  खुशी से बेचारा ले आया अम्मी,
  ज़्यादा  की  चाह  में  पिट  गया  अठन्नी.!!

bechara.jpg

  Bachchon Ke Abba Se Boli Ammi,

  Jao Bazaar Se Lado Narangi-Mausami.!

  Khushi Se Bechara Le Aaya Ammi,

  Jyada Ki Chaah Mein Pit Gaya Athanni.!!

Hey Ni Rabba….


O Kehndi I Love Your Blog,

Kash Keh Dendi I Love You Yaar.!

KudiyaN De Nakhare  Bale,

Baki Sare Chalehe Ni Mere Yaar.!!

l u.jpg

Problem Of Poet’s…


 शायरों में एक कमी ज़रूर होती है,
 जिधर देखी कुड़ी उधर ही शायरी होती है.!

 हूर हो नूर हो या फिर मेंड्की जैसी,
 शेर-ओ-शायरी में  चश्म-ए-बदूर होती है.!!

mendki.jpg

Shayaron  Mein Ek Kami Zarur Hoti Hai,

Jidhar  Dekhi  Kudi  Udhar Hee  Shayari Hoti Hai.!

Hoor Ho Noor Ho Yaa Phir Mendki Jaisi,

Sher-O-Shayari  Mein  Chashm-e-Badur Hoti Hai.!!

 

“Sagar”Khud Ko Badalna Hoga.!!


  ना   वो   घूँघट   रहा    ना   घूँघट वालियाँ,
  गाँव  बने   शहर  खो   गयी   पनघट  वालियाँ.!!

  टीशर्ट-शॉर्ट्स जीन्स ने हरा चीर हया का,
  अब मिलता है बस फरेब नहीं हैं दिल वालियाँ.!!

panght

 Na Wo Ghunghat Raha Na Ghunghat Waliyan,

 Ganw Bane Shehar Kho Gayi Panghat Waliyan.!!

 Ti-Shirt-Shorts   Jeans  Ne  Hara  Cheer Haya Ka,

 Ab Milta Hai Bas Fareb Nahin Hain Dilwaliyan.!!

 

Her Engagement…


बहुत खूब बनाई आज उसने परवल की मिठाई,
जैसे आज उसकी होनी हलवाई से सगाई.!

अब भला  पूछे  कोई नादान से जो है वो हलवाई,
क्यूँ  नहीं  साजवा  लेती  उसी  से रसोवाई.!!

mithai.jpg

Bahut Khub Banaai Aaj Usne Parwal Ki Mithaai,

Jaise Aaj Uski Honi  Halwai Se Sagaai.!

Ab Bhala Pooche Koyi Nadan Se Jo Hai Wo Halwai,

Kyun Nahin Sajwa Leti Usi Se Rasowai.!! 

parwal-.jpg

चाँदनी,चुराने की जिद्द छोड़ दो.!!


मुझ को मुझ से चुराने की ज़िद्द को छोड़ दो,
बहुत पछताओगे गर दिल तुम पर आ गया.!

हसीनो का यूँ छेड़-खानी करना अच्छा नहीं,
सौचना क्या होगा जो बारात ले घर आ गया.!!

baaraat.jpg

Mujh Ko Mujh Se Churaane Kee Zidd Ko Chod Do,

Bahut Pachataoge Gar Dil Tum Par Aa Gaya.!

Haseeno Ka Yun Ched-Khani Krna Achcha Nahin,

Sauchna Kya Hoga Jo Barat Le Ghar Aa Gaya.!!

Send Your Resume…..


smile_ugralo.gif

Zarurat Hai Ek Shirimati Ki Resume Jama Karein,

Paanch Feet Chaar Inch Lambi But Ho Slim-Trim,

Padhna-Likhna Janti Ho Jyada Nahin Bas MBA,

Gori Ho Chain Chakori Ho Hirani Jaisi Ho Chaal, 

Sing&Dance Like MedonaShakira No Hlla-Gulla,

Cards-Cricket Khele Ho Sare Games Mein Maahir,

Khane Ka Shauq Hai’Sagar‘Bnaye Rasoiye Jaisa,

Khaate-Khaate Sab Danton Tale Ungli Daba Lein,

Mil Jaye Gar Yaaro Kahin Ya Bhejna Ho Resume,

Pata Hazir Hai  Dikash-Shayari WordPress.Com,

resume.jpg

Note:-जिनका नाम ‘C‘से शुरू है वो कृपया दूर रहें’शनि पर शुक्र‘ भारी है??

 

तुझे संतरा कह दिया क्या गुनाहा कर दिया.!!


संतरे को संतरा कह दिया तो क्या ज़ुल्म कर दिया.!
तुझे सही नाम  से पुकार  क्या  गुनाहा  कर  दिया.!!

कभी  मीठी  कभी  खट्टी  हो  बातें  करती  हो  तुम.!
तुम्हारी  अदाओं  से  दिल  लगा  क्या तबाहा किया.!!

अंदर  से  मीठी  होगी पर ऊपर  से नारंगी  जैसी हो.!
दो-चार फांकों का रस पी लिया तो क्या बुरा किया.!!

अंगूर   जैसी  आँखें   हैं  तुम्हारी   उस  पर  चश्मा.!
सौच क्यूँ तुझसे दिल लगाया पर ना ज़िक्र किया.!!

computer-gif.gif

Santare Ko Santara Keh Diya To Kya Julm Kar Diya.!

Tujhe Sahi Naam  Se  Pukaar Kya  Gunaha Kar Diya.!!

Kabhi  Mithi  Kabhi  Khatti  Ho Baatein Karti Ho Tum.!

Tumhari  Adaaon  Se Dil  Laga  Kya  Tabaaha  Kiya.!!

Andar  Se  Mithi  Hogi  Par  Opar Se Narangi Jaisi Ho.!

Do-Char Fankon Ka Ras Pee Liya To Kya Bura Kiya.!!

Angoor Jaisi Aankhein Hain Tumhari Uspar Chashma.!

Sauch Kyun Tujh Se  Dil Lagaaya  Par Na Zikar Kiya.!!

माशुका के बच्चों का मामा.!!


lines-flowers-and-nature-236299

एक आशिक के लिए वो पल कितना दुख-दाई होता है जब उसकी माशुका किसी और की हो जाती है,और कुछ सालों बाद दो-चार बच्चों की माँ बन वापिस शहर-मुहल्ले में आती-जाती रहती है?और आशिक उसके बच्चों को अगर प्यार करना चाहे अथवा उठाना चाहे तो वो उसे मामा-मामा कह कर पुकारते हैं?
अर्ज़ है:-

lines-flowers-and-nature-236299

जान-ए-ज़हाँ वो दिन,
क़यामत का होगा.!

तू किसी गैर बाहों में,
अमानत-सा होगा.!!

दो-चार बच्चे साथ,
तेरा खामिंद होगा.!

बदलेंगे रिश्ते अपने नया,
नाम मामू होगा.!!

1412125507976_wps_21_family_time_Love_these_tw.jpg

Jaan-e-Zahaan Wo Din,

Qayamat Ka Hoga.!

Tu Kisi Gair Bahon Mein,

Amanat-Sa Hoga.!!

Do-Chaar Bachche Sath,

Tera Khamind Hoga.!

Badaleinge Rishte Apne Nya,

Naam Mamu Hoga.!!

Roz Paste Nahin Karti.!!


       माँगी थी उससे एक क़िस्सी,
       पर देने से होती वो लस्सी.!

       शायद रोज़ पेस्ट नहीं करती,
       तभी तो हर दिन है फँसती.!!

ek kissi.jpg

Maangi Thi Us Se Ek Kissi,

Par Dene Se Hoti Wo Lassi.!

Shayad Roz Paste Nahin Karti,

Tabhi To Har Din Hai Fansti.!!

 

दिल-दा मामला.!!


  सुना है इश्क़ हो जाए तो मेंड्की भी हूर लगती है.!
  फिर मुहब्बती दीवाने को हर हूर लंगूर लगती है.!!

mendki.jpg

Suna Hai  Ishq  Ho Jaye To Mendaki Bhi Hoor Lagti Hai.!

Phir Muhabbati Diwane Ko Har Hoor Langoor Lagti Hai.!!

BoHoT BuRe Ho AaP.!!


 

 वो  जब  कुछ  कहते  हैं  प्यार  झलकता  है  उन का.!
 अज़ी हुस्न वालों की गाली भी मुहब्बत की बात लगती.!!

aap.jpg

Wo Jab Kuch Kehte Hain Pyaar Jhalkata Hai Un Ka.! 

Azi Husn Walon Ki Gali Bhi Muhabbat Ki Baat Lagti.!!

पागल नहीं तुम.!!


छतीस हैं पीछे,
चौंतीस हैं आगे,
अकेले ही नहीं तुम.!

अपने आगे-पीछे,
हसीनों के रेले,
पहले नहीं तुम.!!

क्या समझते हो,
एक ही हसीन हो,
इतने भी नहीं तुम.!

बात-बेबात इतराना,
बात-बेबात मनाना,
पर पागल नहीं तुम.!!

पागल नहीं तुम.jpg

Chatees Hain Piche,

Chauntees Hain Aage,

Akele Hi Nahin Tum.!

Apne Aage-Peeche,

Haseenon Ke Rele,

Pahale Nahin Tum.!!

Kya Samajhte Ho,

Ek Hi Haseen Ho,

Itne Bhi Nahin Tum.!

Baat-Bebaat Itarana,

Baat-Bebaat Manana,

Par Pagal Nahin Tum.!!

वो टीचर्स छोले बेच नहीं बने.!!


 

20 प्रशन पढ़ कर इम्तहान ना दिया करें.!
पेपर बनाने वालों से कुछ तो डरा ही करें.!!

गर चालाक हम’सागर‘वो भी कम नहीं.!
छोले बेच-बेच वो पढ़े ये गुमान ना करें.!!

Teacher Instructing Class in Algebra

20 Questions Padh Kar Imtahan Na Diya Karein.!

Paper Banane Walon Se Kuch To Dara Hi Karein.!!

Gar Chalak Hum Hain’Sagar‘Wo Bhi Kam Nahin.!

Chole Bech-Bech Wo Padhe Ye Guman Na Karein.!!

खिस्यानी बिल्ली.!!


 

 

अपने हिसाब से रिश्ते जोड़ना,

अपने हिसाब से तोड़ना.!

अच्छा हो ऐसे से दूर रहें,

ऐसे से मुँह मोड़ना.!!

कुछ लोगों की बात ऐसी,

खिस्यानी बिल्ली खंबा नौचे.!

जब उनके तब थे अच्छे,

ना माने तो कहते हैं छोड़ना.!!

सागर‘ खुशकिस्मत हैं,

बची जान उस लोमड से.!

जिसे ना मिले तो बोला.!

अंगूर खट्टे नहीं तोड़ना.!!

खिस्यानी बिल्ली.jpg

Apne Hisaab Se Rishte Jodna,

Apne Hisaab Se Todna.!

Acha Ho Aise Se Door Rahein 

Aise Se Munh Modna.!! 

Kuch Logon Ki Baat Aisi,

Khisyani Billi Khamba Nauche.!

Jab Unke Tab The Ache,

Na Mane To Kehte Sabse Chodna.!!

Sagar‘Khushkismat Hain,

Bachi Jaan Us Lomad Se.!

Jise Na Mile To Bola.!

Angoor Khatte Nahin Todna.!!

 

क्यूँ दें मौका इसके लायक ही नहीं.!!


कुछ लोग ग़लती करने के बाद और मौके की बातें करते हैं पर इस बात की क्या गारन्टी है कि वो फिर ग़लती नहीं करेंगे?
क्यूँ कि कुछ लोग ग़लती से सबक नहीं लेते उनको मौका मिलने पर वो फिर ग़लती कर जाते हैं !
सुधार की गुंजाइश वहाँ होती है जहाँ समझदारी होती और जिनके पास अच्छे दोस्त-माहौल होता है,जो इन बातों से दूर हैं उनको हज़ार मौके दे दीजिए वो ग़लती ज़रूर करेंगे !

अर्ज़ है:-

 

चल दो घड़ी आ रुक ज़रा  प्यार  की बातें कर लेते हैं.!

खाने में क्या बनाया  है  चाय  पर  चर्चा कर लेते हैं.!!

सुना बिगड़े काम यूँ ही बनते दिल की यूँ ही मैल धुलते.!

कुछ अपनी कह कुछ  मेरी सुन खुद को आज़मा लेते हैं.!!

दिल कहता अब भी क्यूँ दूँ मौका तू इसके लायक ही नहीं.!
तेरे संग बातें क्यूँ करूँ सुना किसी दोस्ती क़ाबिल ही नहीं.!!

faff65a9c92f5a134abbb7edc0db950b.jpg

Chal Do Ghadi Aa Ruk Zara Pyaar Kee Batein Kar Lete Hain.!

Khane Mein Kya Bnaya Hai Chay Pe Charcha Kar Lete Hain.!! 

Suna Bigade Kaam Yun Hi Bante Dil Ki Yun Hi Mail Dhulte.!

Kuch Apani Keh  Kuch Meri Sun Khud Ko Aazma Lete Hain.!!

Dil Kehta Ab Bhi Kyun Doon Mauka Tu Iske Layak Hi Nahin.!

Tere Sang Batein Kyun Karun Suna Kisi Dosti Qabil Hi Nahin.!!

Batmeezon Ke Seeng Nahin Hote.!!


Suna Tha Dekh Bhee Liya Batmeezon Ke Seeng Nahin Hote.!

Hamare Jaise Aankhein Hoti Aur Naq Par Dimag Nahin Hote.!!

Mauka De Do Mauka De Do Har Waqt Har Aur Chilate Rehte.!

Galti Karte Duje Mauke Bhee Teeze Ki Gunjaish Kahan Phir.!!

Khud Sawal Kar Khud Jawab Dete Halat Unki Diwanon Jaisi.!

Dosti Ke Naam Dost Ko Hi Gali Dete Phir Mauke Ki Baat Kahan.!!

Chal Chod’Sagar‘Aise Sarfiron Ki Baatein Dil Par Nahin Lagate.!

Bahut Mileinge Aur Aise Na-Shukarguzaar Line Par Line Lagate.!! 

tumblr_nvyo3s7jcB1twt4dho3_540.jpg

 

सुना  था  देख  भी  लिया बातमीजों के सींग नहीं होते.!
हमारे जैसे आँखें होती और नाक पर दिमाग़ नहीं होते.!!

मौका दे दो मौका दे दो हर वक़्त हर और चिलाते रहते.!
ग़लती करते दूजे मौके भी तीज़े की गुंजाइश कहाँ फिर.!!

खुद  सवाल  कर  खुद  जवाब देते हालत उनकी  दीवानों जैसी.!
दोस्ती के नाम दोस्त को ही ग़ाली देते फिर मौके की बात कहाँ.!!

चल  छोड़ ’सागर‘ ऐसे  सरफिरों  की  बातें दिल पर नहीं लगाते.!
बहुत मिलेंगे और ऐसे ना-शूकारगुज़ार लाइन पर लाइन लगाते.!!

इंग्लीश विंग्लिश छोड़ो जी.!!


पता नहीं क्यूँ हम हिंदुस्तानियों को इंग्लीश में बात करना क्यूँ पसंद है ? आए ना आए कोशिश ज़रूर होगी ? दुनियाँ के लोग अपने-अपने देश की भाषा बोल चाँद – सितारों  पर  पहुँच गये और हम हैं कि इंग्लीश के पीछे ही दीवाने हुवे जा रहे हैं !
अँग्रेज़ी आना अच्छी बात है पर इसका ये मतलब तो नहीं की अपने देश में भी हर जगहा हम इसकी नुमाइश करें?जब हम सामने वेल का प्रशन समझ जाते हैं तो  हिन्दी  में ही क्यूँ  नहीं उत्‍तर  देते ? जापानी जापानी में चीनी चीनी में या हर मुल्क के लोग अपनी-अपनी  भाषा  में ही बात करते हैं बस हम ही दिखावा करना पसंद करते हैं !
फ़र्ज़ कीजिए एक हिन्दुस्तानी  अँग्रेजन  को हिन्दुस्तानी  देसी  लड़के से मुहब्बत हो जाए तो क्या होगा?

अज़ी साहब जवाब पता है’मुहब्बत की ज़ुबान नहीं होती‘!

छोड़िए ! देसी मुंडे की एक अँग्रेजन माशुका को आशिकी फरमाते देखिए:-

 

क्या करती गिट-पिट अपनी अँग्रेज़ी में.!

हम  तो  समझें  भाषा  अपनी  देसी  में.!!

हिन्दुस्तान में पैदा हुई बनी अँग्रेजन.!

कछु भी कर नहीं आएगी हमरे भेज़न.!!

मुंडा  सीधा – सादा  ना समझुँ  इंग्लीश.!

लारी-लपा करले भूल जाएगी विंग्लिश.!!

वक़्त ज़रूरत जोगी आती मुझ को भी इंग्लीश.!

आइ लव यू कह सकता मुश्किल नहीं इंग्लीश.!!

टूटी – फूटी  रोटी  खाना  मुझे नहीं भाता.!

सागर‘को हिन्दी में ही बात करना आता.!!

 

englishvinglish

 

Kya Karti Git-Pit Apni Angrezi Mein.!

Hum To Samjhein Bhasha Desi Mein.!!

 

Hindustan Mein Paida Huyi Bani Angrezan.!

Kachu Bhi Kar Nahin Aayegi Hamre Bhezan.!!

 

Munda Sidha-Sada Na Samjhun English.!

Aa Lari-Lapa Karle Bhool Jayegi Vinglish.!!

 

Waqt Zarurat  Jogi Aati Mujh Ko Bhi English.!

I Love You Keh Sakta Mushkil Nahin English.!!

 

Tooti-Phooti Roti Khana Mujhe Nahin Bhata.!

Sagar‘Ko Bas Hindi Mein Hi Baat Karna Aata.!!

Ek Baar Maan To JaaO.!!


तुझ को चाहता  हूँ चाहता ही रहूँगा.!

तेरी भैंस की पहरेदारी करता रहूँगा.!!

 

अपने  कुत्ते  से  कह  दो  भौंका ना करे.!

तेरे घर की रखवाली फिर कैसे करूँगा.!!

 

यूँ आईने में देख मुस्कुराया ना करो.!

मैं तारीफ तुम्हारी कैसे किया करूँगा.!!

 

कहती  है  हर  वक़्त  ना  चाहूं  तुझे.!

एक बार मरा हूँ बार – बार ना मरूँगा.!!

 

ना कर गैर की हो जाने की बातें’सागर‘से.!

तेरे घर वालों की जी-हजूरी  करता रहूँगा.!!

images (2)

Tujh Ko Chahta Hoon Chahta Hi Rahunga.!

Teri Bhains Ki Peharedari Karta Rahunga.!!

 

Apne  Kutte  Se  Keh  Do Bhounka Na Kare.!

Tere Ghar Ki Rakhwali Phir Kaise Karunga.!!

 

Yun Aaine Mein Dekh Muskuraya Na Karo.!

Main Taaref Tumhari Kaise Kiya Karunga.!!

 

Kehati  Hai  Har  Waqt Na Chahoon Tujhe.!

Ek Bar Mara Hoon Bar-Bar Na Marunga.!!

 

Na Kar  Gair  Ki Ho Jaane Ki Batein ‘Sagar‘ Se.!

Tere Ghar Walon Ki Jee-Hajuri Karta Rahunga.!!

‘सागर’की चाहा यारो शादी रचाने की


           images (3).jpg

Ek Dulhe Ko Dekha Aaj Gali Se Guzarte.!

Munh Par Parda Baaki The Dance Karte.!!

Ek Dulhe Ko Dekha…

माथे पर बाँध सेहरा निकले.jpg

Ghode Par Naqab Ka Raj Samajh Aata,

Kahin Nachati Choriyan Na Dekh Le,

Par Dulhe Ko Mukhota Kyun Pehnaya,

Kahin Baratiyon Ki Halat Na Dekh Le,

Ek Dulhe Ko Dekha…

 

Koyi Idhar Girta Koyi Udhar Matkata,

Jahan Jaate Hath Wahin Tak Patkata,

Kehno Ko To Sabhee Dance Kar Rahe,

Koyi Dancer Dekh Zarur Sar Patkata, 

Ek Dulhe Ko Dekha…

 

Hero Jise  Log  Shaadi Ke Din Kehte,

Sach Mein Wo Us Din Jokar-Sa Hota,

Chup-Chap Sab Kuch Dekhta Rehta,

Kehne Ko Us Din Wahee Dulha Hota,

Ek Dulhe Ko Dekha…

 

Aakhir Din Husn Ke Jalwe Dekhne Ka,

Aazadi Se Jine Ka Dil Khol Hansne Ka, 

Ye Bhi Ho Sakti Apni Wo Bhi Ho Sakti,

Dil Bhatkta Kambakhat Ab Rukane Ka,

Ek Dulhe Ko Dekha…

 

Sagar‘Ki Chaha Bhi Badhi Thi Yaaro,

Ek Din Khaas Bana Shaadi Rachane Ki,

Kharch Kar Hazar Lakhon Kamane Ki,

Saare Shahar Mein Dhaak Zamaane Ki,

Ek Dulhe Ko Dekha…

 

images (2)

 

एक दूल्हे को देखा आज गली से गुज़रते.!

मुँह  पर  परदा  था  बाकी  थे डाँस करते.!!

एक दूल्हे को देखा…

 

 

घोड़े पर नक़ाब का राज समझ आता,

कहीं  नाचती  छोरियाँ  ना  देख ले,

पर दूल्हे को मुखहोटा क्यूँ पहनाया,

कहीं बारातियों की हालत ना देख ले,

एक दूल्हे को देखा…

 

 

कोई इधर गिरता कोई उधर मटकता,

जहाँ जाते हाथ वहीं तक पटकता,

कहनो को तो सभी डाँस कर रहे,

कोई डाँसर देख ज़रूर सर पटकता,

एक दूल्हे को देखा…

 

 

हीरो जिसे लोग शादी के दिन कहते,

सच में वो उस दिन जोकर-सा होता,

चुप-चाप सब कुछ देखता रहता,

कहने को उस दिन वही दूल्हा होता,

एक दूल्हे को देखा…

आख़िर दिन हुस्न के जलवे देखने का,

आज़ादी से जीने का दिल खोल हँसने का,

ये भी हो सकती अपनी वो भी हो सकती,

दिल भटकता कम्बख़त अब रुकने का,

एक दूल्हे को देखा…

 

 

सागर‘की चाहा भी बढ़ी थी यारो,

एक दिन ख़ास बना शादी रचाने की,

खर्च कर हज़ार कई लाख कमाने की,

सारे शहर में धाक अपनी ज़माने की,

एक दूल्हे को देखा…

%d bloggers like this: