माशूक़ के बच्चों का मामा.!!


ज़िन्दगी में प्यार तो कई किया करते हैं पर मंजिल तक बहुत कम पहुँच पाते हैं !
कुछ ऐसे अभागे भी होते हैं जो अपनी माशूका को किसी और की बनते देखते हैं,
असली मुश्किल तो तब होती जब माशूक़ अपने बच्चों के साथ वापिस उनके
सामने होती है…और बच्चे मामा-मामा कह बुलाते हैं…!!
पहला प्यार भुला पाना नामुम्किन होता है…

अर्ज किया है:-

इश्क़ मुझसे चाहे बेशक न कर.!
अपने बच्चों से मामा ना कहलवाना.!!

दुनियां में हर रिश्ता अच्छा.!
बड़ा मुश्किल  है  ये रिश्ता निभाना.!!

जो कभी मिलवाएगी शहज़ादे से.!
बेशक झूठ बोलना पर भाई ना बताना.!!

क्या ज़रूरी गुज़रा बताये सब कुछ.!
मम्मी को माँ की बहना ना जतलाना.!!

माशूक़ है और माशूक़ रहेगी.!
अब और रिश्ते की चासनी ना पिलाना.!!

मेरी ना हुई कोई बात नहीं.!
कम से कम उस मासूम का घर बसाना.!!

ज़िन्दगी यही है यही तकाज़ा.!
मेरी तो बातें हैं और बातों पर ना जाना.!!

सब को मनचाहा नहीं मिलता.!
सदा खुश रहे दुआ है पर मुझे भुलाना.!!.!!

father day 2018.jpg

Ishq mijjse chahe beshq na kar,
Apne bachchon se Mama na kehlwana.!
Duniyan mein har rishta achcha,
Bada mushqil hai ye Rshta nibhaana.!
Jo kabhi milwayegi Shahzade se,
Beshq jhooth bolna par Bhai na batana.!
Kya zaruri guzra bataye sab kuch,
Mummy ko maan ki bahan na jatlaana.!
Mashuq hai aur mashuq rahegi,
Ab kisi aur rishte ki Chasni na pilaana.!
Meri naa huyi koyi baat nahin,
Kam se kam us masum ka ghar basana.!
Zindagi yahi hai yahi takaza,
Meri to baatein hain aur baton par na jaana.!
Sab ko manchaha nahin milta.!
Sada khush rahe dua hai par mujhe bhulana.!

रचना कैसी लगी विचार दीजियेगा…

About Dilkash Shayari

All Copyrights Are Reserved.(Under Copyright Act) Please Do Not Copy Without My Permission.

Posted on June 18, 2018, in Funny Poetry, Ghazals Zone. Bookmark the permalink. 32 Comments.

  1. Jane woh kaise log the jinke pyaar ko pyaar.

    Liked by 1 person

  2. भाई कामयाब लोग थे वो…..

    Liked by 1 person

  3. शुक्रिया आकिब जी

    Liked by 1 person

  4. Bhaut gazab likha hain apne, mujhe yeh lines yaad aagyi. My pleasure.

    Liked by 1 person

  5. आपको पसंद आई जान कर बहुत ख़ुशी हुई,
    आप जैसों की होसलाहफ्जाई से ही और लिखने की प्रेरणा मिलती है.
    तह दिल से एक बार फिर शुक्रिया…
    उम्मीद करेंगे कि ऐसा कुछ न हो जिससे ये Lines याद रखनी पड़ें….
    यही अल्लाहताला से दुआ है…

    Like

  6. Welcome.
    Good morning

    Liked by 1 person

  7. Welcome…
    Good morning

    Liked by 1 person

  8. My pleasure.have a nice day.

    Like

  9. My pleasure.Good after noon.

    Like

  10. U said that before🤣🤣

    Liked by 1 person

  11. Aapke swagat ke liye shukriya

    Liked by 1 person

  12. Ye wala padhke maza aya.

    Liked by 1 person

  13. Kisi ka aisa haal karne ka Iraada hai kya?
    Aapko pasand aaya shukriya Riya ji

    Like

  14. Hehe. Wo din bit gaye ab saalon pehle 😂

    Liked by 1 person

  15. Matlab koyi bechara Maama ban chuka?

    Like

  16. Nana. Bilkul v aisa mauka ni aya hai.

    Liked by 1 person

  17. Chalo achcha hua”Sagar”koyi ghayal hone se bach gaya.!
    Padosan achchi thi teri nigahon ka nishana chook gaya.!!

    Like

  18. Iski humein aadat hai. Achhi lagi. Ab fir se shukriya na kahiyega

    Liked by 1 person

  19. Aap ki aadat sar mathe par chalo shukriya nahin kehte.!
    Bhari mehfil mein daad di na shukrye nahin dhanywad karte hain.!!

    Like

Comments / आपके विचार ही हमारे लिखने का पैमाना हैं.....ज़रूर दीजिये...

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: