Meri Khata…Gazal.


मुझ को मेरी खता तो बता ए मेरे खुदा.!
क्या यही के चाँद छूने की खता की है.!!
मुझ को मेरी…
पंछियों संग खिलखिलाना कितना अच्छा लगता है.!
क्या यही खता है के मैंने उड़ने की चाहत की है.!!
मुझ को मेरी…
मनचाहा पाने की किस दिल हसरत नहीं होती है.!
क्या यही खता है मैंने प्यार करने की ज़ुर्रत की है.!!
मुझ को मेरी…
हसींन दुनियां में हर शक़्स ख़ुशी को चाहता है.!
मेरी खता है जो मैंने जीने की यहाँ आरज़ू की है.!!
मुझ को मेरी…
दिल ज़िद्दी है नादाँ है संभाले सम्भलता नहीं है.!
क्या खता है धड़कते दिल ने बाहर दोस्ती की है.!!
मुझ को मेरी…

44.jpg

Mujh ko meri khata to bata ey mere Khuda.!

Kya yahi ke Chaand choone ki khata ki hai.!!..

Panchiyon sang khilkhilana kitna achcha lagta hai.!

Kya yahi khata hai ke maine udne ki chahat ki hai.!!..

Mujh ko meri…

Manchaha paane ki kis dil ki hasrat nahin hai.!

Kya yahi khata hai maine pyaar karne ki zurat ki hai.!!..

Mujh ko meri…

Haseen duniyan mein har shaqs khushi ko chahta hai.!

Meri khata hai jo maine jeene ki yahan aarzoo ki hai.!!..

Mujh ko meri…

Dil ziddi hai nadan hai sambhale sambhlta nahin hai.!

Kya  khata  hai  dhadkate  dil  ne  bahar  dosti  ki  hai.!!..

Mujh ko meri…

About Dilkash Shayari

All Copyrights Are Reserved.(Under Copyright Act) Please Do Not Copy Without My Permission.

Posted on June 17, 2018, in Ghazals Zone and tagged . Bookmark the permalink. 4 Comments.

  1. बेहद खूबसूरत.

    Liked by 1 person

  2. शुक्रिया अरुणा जी बहुत दिनों बाद आप आये विचार दिए…You made my day…

    Like

  3. Most welcome, dear.

    Liked by 1 person

Comments / आपके विचार ही हमारे लिखने का पैमाना हैं.....ज़रूर दीजिये...

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: