तेरे असाइनमेंट्स-कम्प्यूटर और कॉलेज की पढाई.!!


क्या खूब है जानूं तेरे कॉलेज की पढाई.!

असाइनमेंट्स और कम्प्यूटर की पढाई.!!

क्या करेगी पढ़ चौका-बर्तन ही करना.!
संभालेगी चार-पांच बच्चे करेगी लड़ाई.!!

जवानी की बहार बार-बार कहाँ मिलती.!
मानले कहना छोड़ ये मगज़ की खपाई.!!

कम्प्यूटर पड़ेगी कम्प्यूटर ही हो जायेगी.!
खुद क्या मेमोरी हार्ड-डिस्क में फँसाई.!!

उल्लू-सी रात जागती और उल्लू बनाया.!!
अब बिस्तर पर जा लेटी तान गर्म रजाई.!!

चल जैसी भी’सागर‘की है दिल-ओ-जान.!!
बाद देखीं  जायेगी कर लेते पहले सगाई.!!

 24/10/2017 at 2:30 PM

About Dilkash Shayari

All Copyrights Are Reserved.(Under Copyright Act) Please Do Not Copy Without My Permission.

Posted on October 24, 2017, in Funny Poetry, Nagama-e-Dil Shayari. Bookmark the permalink. Leave a comment.

Comments / आपके विचार ही हमारे लिखने का पैमाना हैं.....ज़रूर दीजिये...

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: