I’m Sorry…(Your Wish)


कहना आसान होगा नयी शुरूवात करते हैं,
पुरानी भूलों को गर सुधारने चले दुखों की परवाज़ चढ़ते हैं.!
एक बार हुई समझो ताह उमर की हो गयी,
सागर‘इस दुनियाँ में इक ग़लती पर सौ बार सूली चढ़ते हैं .!!

444444

Kahna Aasan Hoga Nayi Shuruvat Karte Hain,

Purani Bhulon Ko Gar Sudharne Chalein Dukhon Ki Parwaz Chadhte Hain.!

Ek  Baar  Huyi  Samjho  Tah  Umar  Ki Ho Gayi,

Sagar‘ Is  Duniyaan  Mein  Ik  Galti  Par  Sau  Baar  Sooli  Chadte Hain.!!

Advertisements

About Dilkash Shayari

"Everyone Thinks Changing The World,But No One Thinks Of Changing Himself" I'm Advocate(Lawyer) Writer&Poet All Copyrights Are Reserved.(Under Copyright Act) Please Do Not Copy Without My Permission.

Posted on December 17, 2016, in Shayari Khumar -e- Ishq. Bookmark the permalink. 14 Comments.

  1. शुक्रिया रंजीता जी,ज़िंदगी ने जो दिखाया-सिखाया वही बयान करने की कोशिश की है!

    Liked by 1 person

  2. बहुत बढ़िया कोशिश है सागर जी… इसलिए आपकी कविताएँ पढने का एक अलग ही मज़ा है

    Liked by 1 person

  3. ये आप की बंदा-नवाज़ी है रंजीता जी,वरना इस क़ाबिल कहाँ?जो भी दिल को अच्छा लगता है
    उसे यहाँ अथवा अपनी डायरी में उतार लेते हैं!
    आपको पसंद आई शुक्रिया!

    Liked by 1 person

  4. आप लिकते रहिये हम पढ़ते रहेंगे| कभी कभी पढने से चूक जाते हैं उसके लिए माफ़ी चाहते हैं.

    Liked by 1 person

  5. जहाँ विषवास हो वहाँ माफी शब्द के मायने नहीं होते रंजीता जी!
    भूल-चूक लेनी-देनी हर जगह होती है!

    Liked by 1 person

  6. Aapko Pasand Aaya Jaan Kar Achcha Laga.Hosala Badhane Waste Shukriya Ma’am ji.

    Liked by 1 person

  7. Apka swagat hai Sagar!

    Liked by 1 person

Comments/विचार

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: