Can’t Understand…


कुछ लोग जब हिन्दी समझ लेते हैं पढ़ भी लेते हैं
फिर क्यूँ अपना जवाब या रिप्लाइ इंग्लीश में लिखते हैं?
शायद अभी भी गुलामी करने की आदत गयी नहीं?
हो सकता है कुछ की कोई मजबूरी भी हो?
खैर छोड़िए जिसे जो अच्छा लगे काए?
अर्ज़ है:-

images-9

ना आ करीब मेरे दिल जला हूँ,
तुझे भी जला खाक कर दूँगा.!

खुद अपने ही हाथों से अपनी,
हस्ती-दुनियाँ बर्बाद कर दूँगा.!!

tumblr_o9lso6EeHB1qiis88o1_500.gif

Na Aa Kareeb Mere Dil Jala Hun,

Tujhe  Bhi  Jala  Khaak Kar Dunga.!

Khud Apne Hi Haathon Se Apni,

Hasti-Duniyan Barbad Kar Dunga.!!

About Advo. R.R.'SAGAR'

"Everyone Thinks Changing The World,But No One Thinks Of Changing Himself" I'm Advocate(Lawyer) Writer&Poet All Copyrights Are Reserved.(Under Copyright Act) Please Do Not Copy Without My Permission. @R.R'Sagar' (ADVOCATE)

Posted on October 2, 2016, in Shayari-e-Dard. Bookmark the permalink. 14 Comments.

  1. Mobile mein Hindi typing…. mein mushkil hoti hai…. PC mein aaram se ho jata hai

    Liked by 1 person

  2. हो सकता है,नो प्राब्लम!! रंजीता जी

    कोई अच्छा-सा बहाना ढूंड कर तो लाते,
    आसान काम को यूँ फिर मुश्किल ना बताते.!
    माना नादान है’सागर’पर इतना भी नहीं,
    आसान कह फिर कमसिन नखरे किसे दिखाते.!!

    Liked by 1 person

  3. वाह…. मान गए आपको

    Liked by 1 person

  4. जी शुक्रिया पर किस बात के लिए रंजीत जी!

    Liked by 1 person

  5. Itna pyara jawab jo diya aapne🙏

    Liked by 1 person

  6. प्यारे इंसानों को दूसरों की हर बात प्यारी ही लगती है रंजीता जी
    क्यूँकि उनकी आँखें सबको अपने-सा देखती-मानती हैं!

    Liked by 1 person

  7. शुक्रिया सागर जी😃🙏

    Liked by 1 person

  8. ओये-होये हिन्दी इच.
    आपका स्वागत है रंजीता जी

    Liked by 1 person

Comments/विचार

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: