Without U Life Is Nothing…


कम्बख़त दिल जब भी धड़कता है खूब धड़कता है,
किसी की यादों में कभी पाणे की आरज़ू में!!
और फिर बिखर कर कुछ अल्फ़ाज़ कहता है जो,
काग़ज़ पर बिखर शायरी बन जाते हैं!
तड़पाने के लिए…खुद को समझाने के लिए….
शायद इसी का नाम मुहब्बत है…

अर्ज़ है:-

203.png

ग़ज़ल

हुस्न वाले तेरे दम से ज़िंदगी की सुबहा-शाम.!
तू नहीं तो ज़िंदगी है जल बिन मछली समान.!!

हर वक़्त है बेताब दिल को तेरे दीदार की आरज़ू.!!
इक तू ही जिस्म की धड़कन और दिल-ओ-जान.!!

ऐसा नहीं कोशिश ना की कभी तुझे भूलने की.!
चला शहर में जिस गली मिल गया तेरा मकान.!!

तेरे बिन किसी और नज़र को कभी तव्वजू ना दी.!
कैसे मान लिया की हूँ मैं किसी और दिल-ए-जान.!!

यूँ मुँह फेर लेगी तो बता जिएगा ‘सागर‘ कैसे.!
साँसें थम जायेंगी और निकलेगी जिस्म से जान.!!

All Copy Rights Are Reserved
@Advo.R.R.’Sagar

51.jpg

Husn Wale Tere Dam Se Zindagi Ki Subaha-Shaam.!

Tu  Nahin  To  Zindagi  Hai  Jal Bin Machali Samaan.!!

Har Waqt Hai Betab Dil Ko Tere Deedar Ki Aarzoo.!!

Ik   Tu   Hi   Jism   Ki   Dhadkan   Aur  Dil – o – Jaan.!!

Aisa Nahin Koshish Na Ki Kabhi Tujhe Bhulane Ki.!

Chala Shahar Mein Jis Gali Mil Gaya Tera Makaan.!!

Tere Bin Kisi Aur Nazar Ko Kabhi Tawwaju Na Di.!

Kaise Man Liya Ki Hun Main Kisi Aur Ki Dil-e-Jaan.!!

Yun Munh Pher Legi To Bata Jiyega ‘Sagar‘ Kaise.!

Sansein Tham Jayeingi Aur Nikalegi Jism Se Jaan.!!

 

About Advo. R.R.'SAGAR'

"Everyone Thinks Changing The World,But No One Thinks Of Changing Himself" I'm Advocate(Lawyer) Writer&Poet All Copyrights Are Reserved.(Under Copyright Act) Please Do Not Copy Without My Permission. @R.R'Sagar' (ADVOCATE)

Posted on September 21, 2016, in Ghazals Zone. Bookmark the permalink. 2 Comments.

Comments/विचार

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: