ज़िंदगी को लुत्फ़ उठाने दो…


बारिश का मौसम हो और वो आ जायें तो बात ही कुछ और हो जाती है!
दिल कहता है वक़्त रुक जाए और वो ना जायें बस बतियाते रहें!
ऐसे में बातें भी कम्बख़त ख़त्म होने का नाम ही नहीं लेती!
इस ख़ास लम्हे के लिए एक गीत बन पड़ा है!
अर्ज़ है:-ssemras2

वक़्त   को   ठहर   जाने  दो,
ज़िंदगी को लुत्फ़ उठाने दो.!

आए हो तो रुक जाओ अभी,
जी  भर  ज़रा  देख  लेने दो.!!

अभी-अभी तो आए हो,
कहते हो हम  जायेंगे.!
दिल  अभी   भरा   नहीं,
बातें कई रह  जायेंगी.!!
अभी ना जाओ दो पल रुक जाओ जी…

आप के सिवा और नहीं,
दिल के करीब यहाँ कोई.!
आप   से    बेहतर   नहीं,
दूज़ा इस  ज़हान में कोई.!!
बात मानो बातें कई हैं रुक जाओ जी… 

ruk.jpg

Waqt Ko Thehar Jane Do,

Zindagi Ko Lutf Uthaane Do.!

Aaye Ho To Ruk Jaao Abhi,

Jee Bhar Zara Dekh Lene Do.!!

Abhi-Abhi To Aaye Ho,

Kehte Ho Hum Jaayeinge.!

Dil Abhi Bhara Nahin,

Baatein Kai Reh Jaayeingi.!!

Abhi Na Jaao Do Pal Ruk Jaao Ji…

Aap Ke Siwa Aur Nahin,

Dil Ke Kareeb Yahan Koyi.!

Aap Se Behtar Nahin,

Duza Is Zahaan Mein Koyi.!!

Baat Mano Baatein Kai Hain Ruk Jaao Ji… 

 

About Advo. R.R.'SAGAR'

"Everyone Thinks Changing The World,But No One Thinks Of Changing Himself" I'm Advocate(Lawyer) Writer&Poet All Copyrights Are Reserved.(Under Copyright Act) Please Do Not Copy Without My Permission. @R.R'Sagar' (ADVOCATE)

Posted on July 7, 2016, in Nagama-e-Dil Shayari. Bookmark the permalink. Leave a comment.

Comments/विचार

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: