Friends…Chill.!!


हम इंसानों की एक बहुत बड़ी कमी होती है!

“हम बड़ी जल्दी किसी से उम्मीद बाँध लेते हैं और जब वो पूरी नहीं होती बात दिल पर ले लेते हैं!’

क्या किसी एक सहारे ज़िंदगी गुज़रती है?
इक उम्मीद के पूरी ना होने से क्या सब कुछ ख़त्म हो जाता है?
क्या हर किसी को मुकम्मिल ज़हान नसीब होता है?

फिर दिल टूटने वाली मायूसी क्यूँ?

 

ज़िन्दगी बड़ी हसीन है,
दिल खोल लुत्फ़ कर उठाइए.!
ना  जाने  कब  क्या हो,
वक़्त से  पहले  सम्भल जाइए.!!                      @ सागर

 

life.jpg

Advertisements

Posted on June 5, 2016, in Shayari-e-Watan, Thought of the Day. Bookmark the permalink. 2 Comments.

  1. Friends are nice. Thank you for your recent comment on my blog. It crashed before I could reply!

    Liked by 1 person

  2. Always You’re Welcome.

    Liked by 1 person

Comments/विचार

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: