Jija’s Dearest Sister-in-Law…


बस कुछ दिन की बात है शादियों का मौसम शुरू होने वाला है
कई घर बसेंगे,कई डोलियां सजेंगी!
प्यार-मुहब्बत कस्में-वादों की भरमार होगी,होंगी हँसी-खुशी की
बातें और चुहल-बाज़ी!
ऐसे में जीजा श्री की साली साहिबा को कैसे नज़र अंदाज़ किया
जा सकता है?

जहाँ साली ना हो वहाँ शादी का भला क्या मज़ा?
अर्ज़ है:-

3barra.gif

pic.jpg

जिस जीजा की ना हो साली,
उसकी समझो फिर खाली थाली.!

यूँही बड़े-बुजुर्ग नहीं कह गये.!
साली होती है आधी घरवाली.!!

दुल्हन लेनी सहो नखरे साली के,
चाय की चुस्की जैसे प्याली से.!

अच्छे-अच्छों को सबक सीखा दे,
जीजा को भाए तभी उसकी साली.!!

चला है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ ,
कब चलेगा बेटी बढ़ाओ और बढ़ाओ.!

हर जीजा की होगी मन्नत पूरी,
बाय वन गेट वन फ्री में होगी साली.!!

बुरे वक़्त में काम आती साली,
जैसे अपने घर की बहना प्यारी.!

रिश्ते बिखरने से हर पल बचाती,
बेटी-सी लागे तभी तो साली.!!

माँ ने कहा लड़की देख ले’सागर‘,
जो  थी  सुंदर  पर  बिन  बहना थी.!

आव देखा ना ताव कहदी ना,
सौचा ज़िंदगी कटेगी ना मतवाली.!!

 

Saali.gif

Jis  Jija  Ki  Naa  Ho Saali,

Uski Samajho Phir Khali Thali.!

Yunhi Bade-Bujurg Nahin Kah Gaye.!

Saali Hoti Hai Aadhi Gharwaali.!!

Dulhan Leni Saho Nakhare Saali Ke,

Chay Ki Chuski Jaise Pyaali Se.!

Achche-Achchon Ko Sabak Sikha De,

Jija Ko Bhaye Tabhi Uski Saali.!!

Chala Hai Beti Bachao Beti Padaho,

Kab Chalega Beti Badhao Aur Badhao.!

Har Jija Ki Hogi Mannat Poori,

Buy One Get One Free Mein Hogi Saali.!!

Bure Waqt Mein Kaam Aati Saali,

Jaise Apne Ghar Ki Behna Pyaari.!

Rishte Bikharne Se Har Pal Bachati,

Beti-Si Lage Tabhi To Saali.!!

Maan Ne Kaha Ladki Dekh Le’Sagar‘,

Jo Thi Sundar Par Bin Behna Thi.!

Aav Dekha Na Taav Kahdi Na,

Saucha Zindagi Kategi Na Matwaali.!!

End Is Must…


हर सुबहा जब होती है तो यक़ीनन ज़िंदगी एक दिन और गुज़र जाती है
या यूँ कहें ज़िंदगी एक दिन और बढ़ जाती है!
इसी पर एक ख़याल ग़ज़ल में पेश है!

अर्ज़ किया है:-744e6e1ae5ed21cae9884cc5a47b88a7_we_zpsxdox8bs5

हर सुबहा की शाम ज़रूर होती है.!
यूँ  ज़िंदगी  की  मौत  ज़रूर  होती है.!!

कोई भी ऐसी शय नहीं अमर रहे.!
हर शुरूवात की अन्त ज़रूर होती है.!!

क्यूँ लड़ते हो बात-बात  पर यारो.!
तक़रार के बाद इक़रार ज़रूर होती है.!!

किसी का इन्तजार आख़िर दे सकूँ.!
क्यूँकि बाद मुलाकात  ज़रूर  होती है.!!

नफ़रत जिससे सबसे ज़्यादा’सागर‘.!
उसी  से  मुहब्बत  भी  ज़रूर  होती है.!!

zarur.jpg

Har Subaha Ki Shaam Zarur Hoti Hai.!

Yun Zindagi Ki Maut Zarur Hoti Hai.!!

Koyi Bhi Aisi Shay Nahin Amar Rahe.!

Har Shuruvat Ki Ant Zarur Hoti Hai.!!

Kyun Ladte Ho Baat-Baat Par Yaaro.!

Taqraar Ke Baad Iqraar Zarur Hoti Hai.!!

Kisi Ka Intzaar Aakhir De Sakun.!

Kyunki Baad Mulaqaat Zarur Hoti Hai.!!

Nafrat Jisse Sabse Jyaada ‘Sagar‘.!

Usi Se Muhabbat Bhi Zarur Hoti Hai.!!

Seen a Lot…


729331r9xv98dss9

माना ग़ज़ल लिखना एक कला है,पर ये कला सीखने के
लिए किसी स्कूल-कॉलेज की ज़रूर नहीं…
कहीं-किसी से दिल लगाइए दिल के अरमान लफ्ज़ बन
खुद ही ग़ज़ल बन जायेंगे!
अर्ज़ है:-

729331r9xv98dss9

दुनियाँ में किसी-किसी को ही वफ़ा करते देखा है.!
वैसे   हर  बेवफा  को  यूँ ही  वफ़ा  का  दम  भरते  देखा है.!!

वही बातें करते अक्सर कस्में – वादे निभाने की.!
जिन्हें   हर   मोड़   पर   सब   कुछ   भूलते – भुलाते  देखा है.!!

प्यार-मुहब्बत की बातें उस मुँह अच्छी नहीं लगती.!
जिसे  मुहब्बत  भरे  दिल   से  नफ़रत   करते  ही  देखा है.!!

मुहब्बत कभी की थी नकार जाते हैं  कोई  पूछे जो.!!
यारा  हर  जवान  दिल  को  जहाँ  में  प्यार  करते  देखा है.!!

आसमान झुक रहा है ज़मीन के साज़दों में ‘सागर‘.!
हर  मगरूर  को  खुदा  के  दर  सर  पर  झुकाते  देखा है.!!

31.jpg

Duniyaan Mein Kisi-Kisi Ko Hi Wafa Karte Dekha Hai.!

Waise Har Bewafa Ko Yunhi Wafa Ka Dum Bharte Dekha Hai.!! 

Wahi Baatein Karte Aksar Kasmein-Wade Nibhane Ki.!

Jinhein Har Mod Par Sab Kuch Bhulte-Bhulate Dekha Hai.!!

Pyaar-Muhabbat Ki Batein Us Munh Achchi Nahin Lgti.!

Jise Muhabbat Bhare Dil Se Nafrat Karte  Hi Dekha Hai.!!

Muhabbat Kabhi Ki Thi Nakar Jate Hain Koyi Puche To.!

Yaara Har  Dil  Ko Zahaan Mein Pyaar Karte Dekha Hai.!! 

Aasman Jhuk Raha Hai Zamin Ke Sazdon Mein ‘Sagar‘.!

Har Magrur Ko Khuda Ke Dr Sar Par Jhukate Dekha Hai.!!

Cloudy Wind…


जब कभी आज कल के मुहब्बत के दीवानों की बातें होती हैं
उनकी वफ़ा पर यक़ीन कम ही लगता है(हालाँकि अपवाद हैं)

अर्ज़ किया है:-4f5f8-divisordorado9-debrujamar-junio0609

रहते थे कभी जिनके दिल में.!
वो आज बदले-बदले से हैं.!!

ये बदली हवाओं का जलवा है.!
आशिक़ बदलें जैसे कपड़े हैं.!!

बिन देखे क़रार आता ना था.!
कभी ऐसे दिन भी गुज़रे हैं.!!

जिस दुनिया में उनका साथ नहीं.!
सागर‘क्यूँकर उस में जीते हैं.!!

20.jpg

Rahte The Kabhi Jinke Dil Mein.!

Wo Aaj Badale-Badale Se Hain.!!

 

Ye Badali Hawaon Ka Jalwa Hai.!

Aashiq Badalein Jaise Kapde Hain.!!

 

Bin Dekhe Qaraar Aata Naa Tha.!

Kabhi Aise Din Bhi Guzare Hain.!!

 

Jis Duniya Mein Unka Sath Nahin.!

Sagar‘Kunkar Us Mein Jeete Hain.!!

 

Who Has Created These Studies…


आजकल पढ़ाई का मौसम है बच्चो के इम्तहान चल रहे हैं,
स्कूल भी रोज़ जाना पड़ रहा है!माँ-बाप बात-बात पर अच्छे
नम्बर लाने की नसीहत दे रहे!कुछ डंडे की भाषा भी सुना
रहे हैं!पढ़ाई ना हुई मानों कोई जंग जितनी हो?
वक़्त कोई भी या कैसा भी रहा हो,देश कोई भी बात सदैव
एक-सी रहती है?
बेचारे नन्हे बच्चे?

अर्ज़ है:-4f5f8-divisordorado9-debrujamar-junio0609

आसान है सवाल बहुत माना,
पर जवाब बड़ा है मुश्किल.!

बच्चा पूछे है अक्सर,
ये पढ़ाई किसने है बनाई.!!

वक़्त बदलता है यारो,
कुछ बातें कभी ना बदलें.!

कुछ जवाब ऐसे भी होते,
सवाल करना दुनिया ना भूल पाई.!!
ये पढ़ाई किसने है बनाई…

देख मोटी-मोटी किताबें,
कभी हम भी तिलमिला गये थे.!

यही सवाल था माँ से,
कोई माँ जवाब बता ना पाई.!!
ये पढ़ाई किसने है बनाई…

बच्चों की बातें लगती अज़ीब,
कई होती आईना दिखाने वाली.!

दुख इस बात का है ‘सागर‘,
दुनियाँ बच्चों को समझ ना पाई.!!
ये पढ़ाई किसने है बनाई…

EDUCATION.jpg

Aasaan Hai Sawal Bahut Mana,

Par Jawab Bada Hai Mushkil.!

Bachcha  Pooche Hai Aksar,

Ye Padhai Kisne Hai Banai.!!

Waqt Badalta Hai Yaaro,

Kuch Baatein Kabhi Na Badalein.!

Kuch Jawab Aise Bhi Hote,

Sawal Karna Duniya Na Bhul Paai.!!

Ye Padhai Kisne Hai Banai…

Dekh Moti-Moti Kitabein,

Kabhi Hum Bhi Tilmila Gaye The.!

Yahi Sawal Tha Maan Se,

Koyi Maan Jawab Bata Na Paai.!!

Ye Padhai Kisne Hai Banai…

Bachchon Ki Batein Lagti Azib,

Kai Hoti Aaina Dikhane Waali.!

Dukh Is Baat Ka Hai ‘Sagar‘,

Duniyan Bachchon Ko Samjh Na Paai.!!

Ye Padhai Kisne Hai Banai…

Images: Google. 

Make Companion …


जब आँखों से नींद कौसों दूर हो और तन्हाई का एहसास हो
दिल से अरमानों का लफ्ज़ बन निकलना लाज़िम ही है !

अर्ज़ है:-ssemras21

ग़ज़ल

हाथों की लकीरें में सज़ा,
अपना मुस्तकबिल बना लो.!

झुल्फों में क़ैद कर मुझे,
अपना दीवाना बना लो.!!

मैखाने जा अभी पीने की,
आदत नहीं है मुझे.!

नशीली आँखों से पीला कर,
मुझे शराबी बना लो.!!

करती हो प्यार बहुत माना,
तन्हा ना छोड़ा करो.!

गैर हो जाऊं उससे पहले,
माँग में सज़ा लो.!!

यक़ीन करने से यक़ीन होता,
यक़ीन कर सकती हो.!

अपना हमसफर चुन’सागर‘को,
बाहों में समा लो.!!

101.jpg

Hathon Ki Lakirein Mein Saja,

Apna Mustkbil Bana Lo.!

Jhulfon Mein Kaid Kar Mujhe,

Apna Deewana Bana Lo.!!

Maikhane Ja Abhi Pine Ki,

Aadat Nahin Hai Mujhe.!

Nashili Aankhon Se Pila Kar,

Mujhe Sharabi Bana Lo.!!

Karti Ho Pyaar Bahut Mana,

Tanha Na Choda Karo.!

Gair Ho Jaaun Usse Pahale,

Maang Mein Saja Lo.!!

Yaqeen Karne Se Yaqeen Hota,

Yaqeen Kar Sakti Ho.!

Apna Humsafar Chun’Sagar‘Ko,

Bahon Mein Sama Lo.!!

 

 Meaning:

Mustkbil = Future 

One Word is Enough To Describe Someone.!!


11111

I’m Never over from You,

I Cried all Nights,

Waiting for You.

I use to stay in Dark,

To Hide up My Emotions,

I know You Didn’t Care.

I was Tired Loosing My Sleep,

Begging You Please Don’t go,

I Pleased You on My Knees,

I Did Every Fucking things,

To Save My Love.

Things go Wrong in Relationship,

I Accept it,

I Do Accept That,

I Didn’t Expected,

Such a Huge Outcome,

I Miss Those Small Moments,

I Miss Pulling Your Cheeks,

I Miss the Way,

You Care for You….

 

I’m Here,

I Don’t Know,

Where You are Lost,

I’m done with Second Guessing,

I wonder if You Still think,

About the Time,

We Spend Together & Memories,

Which was Made by Us,

I Miss Playing with Your Hair,

I am Done with My Finger,

Running on Your Hands,

I am done Remembering,

What We were,

I didn’t mean Anything Intentionally,

Things went Wrong,

I Couldn’t save My Love,

I Lost You,

I Can’t Hate You,

Even though I Want,

I Can’t

 

When I Read Old Chats,

I Feel How Cute We Were,

And Keep on Smiling,

On Our Stupid Chats,
Yet Anyone Ask Me,

You Still,

Love them or Hate them,

I would Reply,

My Heart is Broken into,

Thousands Piece,

I Need You all the Time,

I wish You Reads this,

And get Affected by This

 

I Truly Loved Her,

I Still do,

Things have Change Now,

I know its Not Easy,

To Save Our Love Again,

I Wish You,

Good Luck for Your Future.🙂

One Word is Enough,

To Describe Someone.

You’re Too Sweet for this World :”)

You’re Pumpkin,

Always there to make My Day,

With Your Compliments,

I Love it Seriously :’)

You’re Quite Friendly and Entertainer,

As well its the best thing,

Bout You always,

Stay Happy and Blessed :”)

At 

Oct 18, 2015 8:08 PM

Without You…


कहते हैं इश्क़ इंसान को शायर बना देता है,
तन्हाई-तपिश और दीवानगी ही जो सर चढ़
बोलती है!
दिल का दर्द जब काग़ज़ पर लफ्ज़ बन बिखरता
है अच्छे-अच्छे घायल हो जाते हैं और अपने को
उसमें तलाशते हैं?
ज़्यादातर रचनायें / शायरी ऑनलाइन ( Instantly ) तव्रित लिखी
जा रही हैं शब्दों में ग़लती होना लाज़िम है,खेद है!

अर्ज़ है:-744e6e1ae5ed21cae9884cc5a47b88a7_we_zpsxdox8bs5

तुझसे बिछड़ कर बिखर जाऊँगा मैं.!
तेरे  बिन  बता  कैसे जी पाऊँगा मैं.!

कोई ख्वाब ऐसा नहीं शामिल ना हो.!
कैसे अपनी दुनियाँ बसा पाऊँगा मैं.!!

साथ ना छोड़ने का वादा किया था.!
वो तेरा वादा कैसे भुला पाऊँगा मैं.!!

भौर की लाली निकलती तेरे नाम से.!
शाम होते-होते तन्हा हो जाऊँगा मैं.!!

मेरी शायरी  में  तेरी महकती साँसें.!
किसी गैर पे कैसे लिख पाऊँगा मैं.!!

अपने’सागर‘से यूँ ना खफा हो सनम.!
वरना वक़्त से  पहले मर जाऊँगा मैं.!!

bikhar.jpg

Without U Life Is Nothing…


कम्बख़त दिल जब भी धड़कता है खूब धड़कता है,
किसी की यादों में कभी पाणे की आरज़ू में!!
और फिर बिखर कर कुछ अल्फ़ाज़ कहता है जो,
काग़ज़ पर बिखर शायरी बन जाते हैं!
तड़पाने के लिए…खुद को समझाने के लिए….
शायद इसी का नाम मुहब्बत है…

अर्ज़ है:-

203.png

ग़ज़ल

हुस्न वाले तेरे दम से ज़िंदगी की सुबहा-शाम.!
तू नहीं तो ज़िंदगी है जल बिन मछली समान.!!

हर वक़्त है बेताब दिल को तेरे दीदार की आरज़ू.!!
इक तू ही जिस्म की धड़कन और दिल-ओ-जान.!!

ऐसा नहीं कोशिश ना की कभी तुझे भूलने की.!
चला शहर में जिस गली मिल गया तेरा मकान.!!

तेरे बिन किसी और नज़र को कभी तव्वजू ना दी.!
कैसे मान लिया की हूँ मैं किसी और दिल-ए-जान.!!

यूँ मुँह फेर लेगी तो बता जिएगा ‘सागर‘ कैसे.!
साँसें थम जायेंगी और निकलेगी जिस्म से जान.!!

All Copy Rights Are Reserved
@Advo.R.R.’Sagar

51.jpg

Husn Wale Tere Dam Se Zindagi Ki Subaha-Shaam.!

Tu  Nahin  To  Zindagi  Hai  Jal Bin Machali Samaan.!!

Har Waqt Hai Betab Dil Ko Tere Deedar Ki Aarzoo.!!

Ik   Tu   Hi   Jism   Ki   Dhadkan   Aur  Dil – o – Jaan.!!

Aisa Nahin Koshish Na Ki Kabhi Tujhe Bhulane Ki.!

Chala Shahar Mein Jis Gali Mil Gaya Tera Makaan.!!

Tere Bin Kisi Aur Nazar Ko Kabhi Tawwaju Na Di.!

Kaise Man Liya Ki Hun Main Kisi Aur Ki Dil-e-Jaan.!!

Yun Munh Pher Legi To Bata Jiyega ‘Sagar‘ Kaise.!

Sansein Tham Jayeingi Aur Nikalegi Jism Se Jaan.!!

 

Life In Few Words…


बहुत हुए शेर क्यूँ ना एक सुहानी-सी ग़ज़ल हो जाए!
अर्ज़ है:-4f5f8-divisordorado9-debrujamar-junio0609

ग़ज़ल

मैं रहूं ना रहूं तेरी साँसों  की खुश्बू रहनी चाहिए.!
दुनियाँ  में यूँ  ही तेरे होने की वजह होनी चाहिए.!!

ये तड़प और इस मुहब्बत  की बातें दोहराए ज़माना.!
बस इसी तरहा अपनी मुहब्बत मशहूर रहनी चाहिए.!!

वक़्त रुकता नहीं मौसम बदलते हैं और बदलते रहेंगे.!
नौजवान दिलों में तेरे – मेरे क़िस्से नज़र आने चाहिए.!!

इस बहार – ए – चमन में फूल कई रंगों के खिले हैं.!
जो बात तुझ में किसी और में कभी ना होनी चाहिए.!!

किसी और की कभी ना हो दुआ  करे  है ‘सागर‘.!
तेरे-मेरे सपनों की बारात हर जन्म सजनी चाहिए.!! 

All Copy Rights Are Reserved
@Advo.R.R.’Sagar

gazal.jpg

Rahun Na Rahun Teri Sanson Ki Khushbu Rahni Chahiye.!

Duniyaan Mein Yunhi Tere Hone Ki Wajaha Honi Chahiye.!!

Ye Tadap Aur Is Muhabbat Ki Baatein Dohraye Zamaana.!

Bas Isi Tarha Apni Muhabbat Mashahoor Rahin Chahiye.!!

Waqt Rukta Nahin Mausam Badalte Hain Aur Badalte Raheinge.!

Naujawaan  Dilon  Mein Tere – Mere  Kisse  Nazar Aane Chahiye.!!

Is Bahar-e-Chaman Mein Phool Kai Rangon Ke Khile Hain.!

Jo  Baat  Tujh  Mein  Kisi  Aur  Mein Kabhi Na Honi Chahiye.!!

Kisi   Aur   Ki   Kabhi   Naa   Ho   Dua  Kare  Hai ‘Sagar‘.!

Tere – Mere Sapnon  Ki Baarat  Har Janm Sajani Chahiye.!! 

बेवफा इरादे.!!


एक ऐसा हादसा देखने को टीवी पर देखने-सुनने को आज मिला की मुहब्बत
करने वालों से दिल ही उठ गया?ये कैसी मुहब्बत है जनून है,आप जिसे
चाहने-सरहाने का दम भरते हैं,अगर जवाब आपके मन-मुताबिक ना हो आप
किसी की जान लेने पर ही आमदा हो जाइएन या ले ही लें?

शीरी-फरहाद,शशि-पुूनू,लैला-मजनू,हीर-रांझा,सोहनी-महिवाल और ना जाने
कितने जनूनी मुहब्बत करने वाले इस देश में आज प्यार-वफ़ा के माइने
ही बदल गये हैं?
शर्म आती ये सब देख-सुन कर? दिल रोता है!
अर्ज़ है:-ssemras21.gif

ये कैसी मुहब्बत है’सागर‘,
कल तक जिस हुस्न खातिर  पलकें  बिछाए राह ताकते थे.!

ज़रा-सी अनबन क्या हुई,
कई वार किए उस जान पर और उसकी हस्ती ही मिटा दी.!!

bewafa.gif

Ye Kaisi Muhabbat Hai’Sagar‘,

Kal Tak Jis Husn Khatir Palkein Bichaye Raha Takte The.!

Zara-Si Anban Kya Huyi,

Kai Waar  Kiye  Us  Jaan  Par Aur  Us Ki  Hasti  Hi Mita Di.!!

Heart Beats…


ये दिल की बेक़ारारियाँ हैं,
ज़ालिम खुद हैं और तुझको भी कर देंगी.!
ज़रा बच कर रहना’सागर‘,
मदहोश खुद हैं और तुझको भी कर देंगी.!!

beqrariyan.jpg

Ye Husn Ki Beqrariyan Hain,

Zalim Khud Hain Aur Tujhko Bhi Kar Deingi.!

Zara Bach Kar  Rehna’Sagar‘,

Madhosh Khud Hain Tujhko Bhi Kar Deingi.!!

Chahat.!!


यूँ छेड़ना – चिढ़ाना  हुस्न  की पुरानी आदत है.!
इश्क़ तरसता रहे’सागर’यही उसकी चाहत है.!!

bjo.gif

Bita Waqt.!!


एस एम एस के ज़माने में वादे भी डेलीट होने जैसे.!
वो वक़्त गुज़रा’सागर‘प्यार खतों में ब्यान होता था.!!

3333.jpg

Khauf.!!


गर  ख़ौफ़  होता  धोखा  देने वालों के दिल में,
तो धोखा  देते  ही क्यूँ.!
रब्ब से डरते और वफ़ा करते जान देने वाली,
बेवफ़ाई करते ही क्यूँ.!!

15.jpg

उम्मीद.!!


उस  महबूब  से क्या उम्मीद जो रुसवा सारे जहाँ में करे.!
मुहब्बत करने वाले तो’सागर‘यार खातिर जान दे देते हैं.!!

81.jpg

Tit For Tat…


जो जैसा कर्म करेगा वैसा ही पाएगा.!
धरती से उगता वही जो  बोया जाता.!!

tumblr_o13s5fLkYe1twrbr9o1_540_zpsmoyrpvhd.gif

नुस्ख़ा.!!


नादान-नासमझ-गुमराह नहीं,
शातिर है वो ‘सागर‘.!
सच  यही  है  ये भी मुहब्बत में,
आज़माने का नुस्ख़ा है.!!

49.jpg

Busy In Your Memories…


अज़ी फुरस्त कहाँ मुहब्बत में किसी और को अपनाने की.!
तेरी यादें पीछा छोड़ती नहीं दिल ही कहाँ कुछ  बसने को.!!

67.jpg

गुनहगार.!!


डिक्शनरी होती ही याद रखने के लिए,
क्या भूले जाते हो.!
खता खुद करते गुनहगार’सागर‘को,
ठहराए जाते हो.!!

744e6e1ae5ed21cae9884cc5a47b88a7_we_zpsxdox8bs5.gif

रब्ब की मर्ज़ी.!!


हमनें तो बस दाद दी है,
करम तो मलिक का है.!
बन्दो का काम यहीं तक,
आगे रब्ब  की  मर्ज़ी है.!!

46.jpg

Izzat.!!


इतनी  इज़्ज़त  ना  बक्षिए,
जिस के क़ाबिल नहीं’सागर‘.!
गरूर इतना आ जाए की,
खुद को भूल ही जाए’सागर‘.!!

100-a.jpg

Smile…


ईश्वर करे आप यूँ  ही खियखिलाते रहें,
बस और नहीं कुछ कहना.!

हर खुशी मिले जहाँ की दुआ करे’सागर‘,
दुख का दूर ही हो रहना.!!

u.jpg

Kasam.!!


कसम उन्होने खाई है इशारों में बात करने की’सागर’.!
कोई समझे या ना समझे करनी है बस अपने दिल की.!!

89.jpg

When You’re…


जीने का मज़ा तब तक है’सागर‘.!
कोई हो अपना चाहने वाला यहाँ.!!

144.jpg

Jeene Ka Maja  Tab  Tak Hai ‘Sagar‘.!

Koyi Ho Apna Chahne Wala Yahan.!!

Oh!God That Day Never Comes To My Life…


खुदा करे ज़िंदगी में वो दिन कभी ना आए,
जीना पड़े तेरे बगैर तू रूठ जाए.!
साथ जीने खातिर ही  हर  सितम सहे जाते,
वरना ये  ज़िंदगी  ही  ठहर जाए.!!

Khuda kare.jpg

 

Khuda Kare Zindagi Mein Wo Din Kabhi Na Aaye,

Jina Pade Tere Bagair Tu Ruth Jaaye.!

Saath  Jeene  Khaatir  Hi  Har  Sitam  Sahe  Jaate,

Warna Ye  Zindagi  Hi Thehar Jaaye.!! 

Thanks For Support & Appreciation…


Your blog, DILKASH SHAYARI, appears to be getting more traffic than usual! 201 hourly views15 hourly views on average

A spike in your stats

Have a Nice Journey…


ज़िंदगी में आप किसी के विचारों से इतेफ़ाक़ रखते हों या नो हों परंतु आप जब भी उनसे मिलें ऐसे मिलें उन्हें एहसास ना आप उन्हें पसंद नहीं करते,उन्हें या उनके विचारों को?
अगर हम किसी को खुशी दे नहीं सकते तो हमें दुख देने का भी हक़ नहीं है


खैर छोड़िए !

अर्ज़ है:-

lines-flowers-and-nature-236299

बेहया करती नहीं इंतज़ार किसी के अधूरे काम पूरे करने का.!
मौत आती है अचानक और  बिन सौचे-समझे साथ ले जाती है.!!

Have a Nice Journey....jpg

Behaya Karti Nahin Intzaar Kisi Ke Adhure Kaam Poore Karne Ka.!

Maut Aati  Hai Achanak Aur Bin Sauche-Samjhe Saath Le Jaati Hai.!!

Everyone’s Master is One…


ना हिंदू हूँ ना मुस्लिम,
ना सिख ना ईसाई.!

तेरा ही खून हूँ मैं,
तेरा ही हूँ भाई.!!

हर वक़्त ने छला,
दिया इक मज़हब का नाम.!

इंसान हूँ यारो बस,
किस बात की है फिर लड़ाई.!!

भूखा हूँ प्यासा हूँ,
सोने को नहीं बिस्तर.!

थोड़ी-सी जगहा दे दो,
देखो मिलती कितनी बड़ाई.!!

जात-पात और क़ौम,
हमनें ही है बनाई.!

मलिक ने तो सब में,
एक-सी रूह है बसाई.!!

दुनियाँ की छोड़’सागर‘,
अपने दिल की सुन.!

एक मलिक है और,
एक तस्वीर आँखों में सजाई.!!

malik ek.jpg

Na Hindu Hun Na Muslim,

Na Sikh Na Isai.!

Tera Hi Khoon Hum Main,

Tera Hi Hun Bhai.!!

Har Waqt Ne Chala,

Diya Ik Majhab Ka Naam.!

Insaan Hun Yaaro Bas,

Kis Baat Ki Hai Phir Ladai.!!

Bhukha Hun Pyaasa Hun,

Sone Ko Nahin Bistar.!

Thodi-Si Jagaha De Do,

Dekho Milti Kitni Badai.!!

Jaat-Paat Aur Kaum,

Humnein Hi Hai Banai.!

Malik Ne To Sab Mein,

Ek-Si Ruh Hai Basai.!!

Duniyan ki Chod’Sagar‘,

Apne Dil Ki Sun.!

Ek Malik Hai Aur,

Ek Tasweer Aankhon Mein Sajai.!!

 

The End…/


बातें तो बहुत थी करने के लिए.!
पर वक़्त नहीं ज़्यादा जीने के लिए.!!

22222.jpg

Baatein To Bahut Thi Karne Ke Liye.!

Par Waqt Nahin Jyada Jeene Ke Liye.!!

%d bloggers like this: