ज़िन्दगी…


ज़िन्दगी रुक नहीं पाती खुशियों के रेल में.!
सब्ज़-बाग़ दिखा खो जाती जाती है मेले में.!!

गिला-शिक़वा खुद को बड़ा मानने की ज़िद्द.!
सब कुछ होते हुवे आखिर जाना अकेले में.!!

मनचाहा पाने की यहाँ इज़ाज़त किसे मिली.!
ज़िन्दगी गुज़र  जाती  ज़िन्दगी के झमेले में.!!

दिन गुजरे इंसान एहमियत-ए-रिश्ता जानता.!
अब बिकते हैं रिश्ते गली-चौराहों पर धेले में.!!

प्यार-वफ़ा-ईमान  की उम्मीद ना कर यारा.!
लोग  लेते  हैं यहाँ  मज़ा नफरत के शोले में.!!

Advertisements

ज़िन्दगी…


काहे का है झगड़ा काहे का है रोना-धोना,
जाने ज़िन्दगी की कब शाम हो जानी है.!

हंस-बोल जी ले बन्दे चार दिन की ज़िन्दगी,
सब यहीं रह जाना लम्हों की कहानी है.!!

ज़िन्दगी

लोग कहते हैं..!!


लोग कहते हैं तुझ को मुझ से मुहब्बत हो गई है.!
मैं समझता हूँ मेरी हालत तेरे जैसी हो गई है.!!
लोग कहते हैं…

जो भी देखा उस ख्वाब में तू ही तू नज़र आई.!
हर लम्हें की सूरत तेरे जैसी हो गई है.!
लोग कहते हैं…

तेरे होंठों की आह मेरे घर के कांच तोड़ गई.!
मेरी आँखों से तेरे घर बारिश हो गई है.!!
लोग कहते हैं…

मेरी खुशबू से महकती तेरी ज़िन्दगी की सांसें.!
मेरी हर धड़कन तेरी अमानत हो गई है.!!
लोग कहते हैं…

मिलना-बिछड़ना तो वक़्त की नज़ाकत है यारा.!
तेरी ज़ुस्तज़ु में रवि की शाम हो गई है.!!
लोग कहते हैं…

पहचान…


इन्सान के व्यक्तित्व की पहचान,
उसके द्वारा अपने परिवार के लिए किये गए
सहयोग / त्याग से होती है,
ज़माने भर का दर्द तो सभी उठाने का दम भरते हैं…
क्यूंकि सम्मान तभी तो मिलेगा…?
और परिवार सिवाए प्यार के…
कुछ नहीं दे सकता…कुछ खट्टा कुछ मिठ्ठा…

2.jpg

कोई किसी को नहीं बिगाड़ता…


कोई किसी को नहीं बिगाड़ता...

आपके आस-पास यक़ीनन दो अलग-अलग सोच
के व्यक्ति रहते होंगे,
जिनके विचार विपरीत होंगे…

ये आप पर निर्भर करता है आप किसको पसंद कर,
किसके स्वभाव को अपनाते हैं…

हाथों की लकीरें…


अपने हाथों की लकीरों में सजा लो मुझे,
कोई गैर नहीं हूँ दिल में बसा लो मुझे.!

इससे पहले और तसव्वुर का ख्वाब बनूँ,
अपनी आँखों का हमराह बना लो मुझे.!!

2

Apne hathon ki lakiron mein saja lo mujhe,

Koyi gair nahin hun dil mein basa lo mujhe.!

Isse pahale aur nazar ka khwab banun,

Apni aankhon ka humrah bana lo mujhe.!!

!!.सुप्रभात.!!


सुप्रभात.jpg

Happy Dussehra.!!


तम्माम अच्छाइयों पर भारी पड़ती है बस एक बुराई,.!
दुनियां का यही  चलन था  है  और यही चलन रहेगा.!!

Dussehra-2018

Tammam achchaiyon par bhari padti hai bas ek burai,.!

Duniyan ka  yahi  chaln  tha hai aur yahi chaln rahega.!!

कैसे.!!


नहीं करीब है मेरे फिर भी मेरी सांसों में तेरी गर्माहट है कैसे.!

शायद इसी का नाम है मुहब्बत तेरी तस्वीर आँखों में है कैसे.!!

eyes.jpeg

Why…


खूबसूरत पिक लगा अपनी Dp में हटा लेते हैं,
हुस्न वाले आजकल कुछ यूँ ही तड़पा लेते हैं.!

तस्वीर ही होता सहारा सकूँ दिल के पाने का,
तन्हाई में यार”सागर“देख दिल बहला लेते हैं.!!

bike

Garur…!!


यूँ आइना में न देखा करो,
गरूर खुद पर उसे नाहक ही हो जाएगा.!
पी जाम हुस्न-औ-जमाल का,
मगरूर सब को नज़रअंदाज़ कर जाएगा.!!

Garur

Yun aina mein na dekha karo

Garur khud par use nahak hi ho jaayega.!

Pee jaam husn-o-zamaal ka

Magrur sab ko nazarandaz kar jaayega.!!

Koshish…!!


बीती बातों को दोहराने से क्या फायदा ज़ख्म जितना कुरेदोगे दर्द बढ़ता जाएगा.!
गुज़रे ज़माने को भुला कर तो देखिये मज़ा जीने का और भी बढ़ता ही जाएगा.!!

pofit.jpg

Beeti baaton ko dohrane se kya fayda zakhm jitna kuredoge dard badhta jaayega.!

Guzre zamaane ko bhula kar to dekhiye maza jeene ka aur bhi badhta hi jaayega.!!

 

Maybe…


इक बार करीब आ  तो देखो खुद बखुद इरादे बदल जाएंगे.!
माना खुद से किये होंगे वादे कई मगर सारे वादे बदल जाएंगे.!!

Iraade.jpg

Ik baar   kareeb  aa to dekho  khud bakhud iraade badal jaayeinge.!

Mana khud se kiye honge waade kai magar saare wade badal jaayeinge.!!

पीना बुरी चीज़ है मगर…


तुझे पी सारे गम भुलाये जाते हैं,
फिर भी लोग हैं के तुझे बुरा बताये जाते हैं.!
अजब-गजब दुनियां के दस्तूर हैं,
बेगुनाहों पर ही क्यों इल्जाम लगाए जाते हैं.!!
तुझे पी सारे गम भुलाये जाते हैं,
फिर भी लोग हैं के तुझे बुरा बताये जाते हैं…

पीना बुरी चीज़ है मगर गम भुलाने की और क्या चीज़ है.!
ऐसी कोई दवा बताओ जिससे दर्दे-ए-गम मिटाये जाते हैं.!!
तुझे पी सारे गम भुलाये जाते हैं,
फिर भी लोग हैं के तुझे बुरा बताये जाते हैं…

होश में रहने से अच्छा है बेहोश ही रहा जाए आजकल.!
यक़ीन किस पर करें यक़ीन नाम ही सब लुटाये जाते हैं.!!
तुझे पी सारे गम भुलाये जाते हैं,
फिर भी लोग हैं के तुझे बुरा बताये जाते हैं…

पीना बुरी चीज़ है मगर...

Jaane Kab.!!


ज़िन्दगी के उस दौर में हूँ कुछ ख्वाहिशें अधूरी रह जाएंगी.!
कितनी भी ऊँची परवाज़ बेशक करूँ कभी तो शाम होगी.!!

Life.jpg 1.jpg

Zindagi ke us daur mein hun kuch khwahishein adhoori reh jayeingi.!
Kitni bhi unchi parwaz beshq karun kabhi to shaam hogi.!!

होंसले.!!


चाँद पाने की तमन्ना है,
चाँद को छूने का इरादा है.!
हर नामुमकिन की चाहत है,
मुमकिन करने का वादा है.!!

होंसले गर बुलंद हों तो,
कुछ भी नामुमकिन नहीं है !
शक की गुंजाइश नहीं है,
मन पर धूल का लिबादा है.!!

होंसले.jpg

Chaand pane ki tamnna hai,

Chaand ko choone ka irada hai.!

Har namumqin ki chahat hai,

Mumqin karne ka wada hai.!!

Honsale gar buland hon to,

Kuch bhi namumqin nahin hai.!

Shaq ki gunjaaish nahin hai,

Man par dhool ka libada hai.!!

ज़िन्दगी की आपा-धापी.!!


ज़िन्दगी की खूबसूरत डगर पर बढ़ते जाना है,
कुछ मुक़ाम हासिल कर इक दिन रुक जाना है.!

खाली हाथ आया पर कुछ रिश्ते बना जाना है,
यादें छोड़ अपनी  खाली  फिर हाथ  ही जाना है!!

Zindagi ki khubsurat dagar par badte jaana hai,

Kuch muqaam haasil kar ik din ruk jaana hai.!

Khaali haath aaya par kuch rishte bna jaana hai,

Yaadein chod apni phir khaali haath hi jaana hai!!

Badalte Rishte…


Wo din gair huve jab tum juda-juda se rahte the,

Bna kar takiya khwahishon ka raat khwabon mein mila karte the.!

Waqt badla mudadtein huyi baateon kiye huve,

Ab sochta kya haqeeqat mein mujh se muhabbat kya karye the.!!

❤️❤️चाँद❤️❤️से सुन्दर हो…


दिल का तूफान दिल में लिए जाएंगे,
उन की यादें इरशाद किये जाएंगे.!
जानते हैं गैर की अमानत हो यारा,
सुलगते अरमान साथ लिए जाएंगे.!!

नामुमकिन कुछ नहीं बस वहम है,
मुश्किलों का सिर्फ बहाना बनाएंगे.!
रहो सलामत रंज -औ -गम से दूर,
हाथ उठा रब्ब से दुआ किये जाएंगे.!

चाँद से सुन्दर हो जान-ए -जिग्गर,
हर शेर-ग़ज़ल में नाम लिए जाएंगे.!
दुनियां क्या उनके सामने ”सागर”,
जान अपनी ये क़ुर्बान किये जाएंगे.!!

2.jpg

तस्वीर.!!


तस्वीर पर उनके शायरी क्या की वो तस्वीर ही बदल बैठे.!

क्या हुस्न की तारीफ करना गुनाह जो वो यूँ खफा हो बैठे.!!

22

Tasweer par unke shayari kya ki wo tasweer hi badl baithe.!
Kya husn ki tareef karna gunaha jo wo yun khfa ho baithe.!!

Dga…


Zindagi kab dga de hai jaye kis ko pta.!

Chahe karlo muhabbat kitni bhi wafa.!!

Berang Zindagi…


Kuch din hi chali beshq un sang dosti par kya khub chali.!

Zindagi satrangi ho chali thi jo berang ab hai ho chali.!!

Life is…


Good Morning…Have a nice day…

ज़िन्दगी इक बेवफा मेहबूब है धोखा दे ही जाती.!
दिखा हसीं सपने इक दिन जान लेकर ही मानती.!!

life.jpg

Zindagi ik bewafa mehboob hai dhokha de hi jaati.!
Dikha haseen sapne ik din jaan lekar hi maanti.!!

Tasweer…


जब से देखि तेरी तस्वीर दिल सम्भलता नहीं,
किसी शे में लगता नहीं.!

कई जतन किये तेरा अक्स नैनों से मिटाने के,
क्या करूँ दिल बहलता नहीं.!!

1

Jab se dekhi teri tasweer dil sambhlta nahin,

Kisi shay mein mn lgta nahin.!

Kai jatan kiye tera aks nainon se mitane ke,

Kya karun dil bahalta nahin.!!

फितरत.!!


तुम्हें रूठने की आदत है अगर हमें मानाने की आदत नहीं.!
तुम अपनी फितरत पर क़ायम रहो हम अपनी फितरत बदल सकते नहीं.!!

8

Tumhein ruthane ki aadat hai agar humein manane ki aadat nahin.!

Tum apni fitrat par qayam raho hum apni fitrat badal sakte nahin.!!

Bharosa…!!


Main rahun na rahun zikar mera tere labon par rahna chahiye.!

Zindagi ka kya hai bharosa bas safar suhana hona chahiye.!!

Dua.!!


Ye zindagi kis kaam apnon ke ksam na aa sake.!

Dua karta hun ab Khuda wapis hi bula le.!!

Kyun…


Kyun bura masnte ho jaan-e-jahan zra sa mazak hi to kiys tha.!

Zindagi ka kya bharosa kab jana ho kabhi kisne hisab liya tha.!!

3

GirebaaN…!!


Aasmaan par gar patthar uchaloge to khud pe hi aa gireinge.!

Dosh auron mein dekhne se pahale khudi ko sambhal”Sagar”.!!

22

Look So Beautiful…


क्या खूब है तेरी वो बाइक और ये कानपुरिया स्टाइल,
कभी हम को भी सैर करा जहाँ की.!

लाज़िम है तेरे साथ जो गुज़रेगा सफर सुहाना ही होगा,
कभी प्यास बुझा प्यासे”सागर“की.!!

bike.jpg

%d bloggers like this: